मुंबई, एएनआइ। अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान क्यार के चलते भारत के तटवर्ती इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान क्यार मुंबई से 540 किमी दूर पश्चिम-दक्षिण-पश्चिम में और सलालाह (ओमान) के 1500 किमी पूर्व में स्थित है। यह 3 घंटे के अंदर चक्रवाती तूफान को और तेज होने की संभावना है। यह अगले 5 दिनों के दौरान पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर ओमान तट की ओर बढ़ने की संभावना है।

मछुआरों को अगले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और दक्षिण गुजरात तट के तटों से समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है।

महाराष्ट्र के तटवर्ती इलाकों में चक्रवाती तूफान क्यार के चलते तेज बारिश हो रही है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के चलते पालघर जिला कलेक्टर कैलाश शिंदे ने मछुआरों को समुद्र तट पर नहीं जाने की चेतवानी दी है। क्यार का मुंबई पर कोई असर नहीं होगा। मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार क्यार चक्रवाती अब ओमान की तरफ जा रही है। इसलिए इसका खतरा कम हुआ है। महाराष्ट्र के तटीय जिलों रत्नागिरि और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश होने का अलर्ट जारी किया गया है।

वहीं, चक्रवाती तूफान क्यार को लेकर भारतीय तटरक्षक बल पूरी तरह से तैनात हैं। तटरक्षक बल ने कहा कि हमने चक्रवाती तूफान क्यार के मद्देनजर पश्चिमी तट पर खोज और बचाव अभियान तेज कर दिया है।

गौरतलब है कि चक्रवात तूफान के चलते दक्षिण भारत के कर्नाटक में पिछले कई दिनों से तेज बारिश हो रही है। कर्नाटक के कई जिलों में बाढ़ के आसार बने हुए हैं। समुद्री क्षेत्रों में एनडीआरएफ की टीम को भी तैनात कर दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: 'बगदादी' को मिली मौत! राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट से पूरी दुनिया में मची खलबली

यह भी पढ़ें: पुंंछ LoC पर जवानों संग दिवाली मनाने पहुंचे PM मोदी, कहा- दुश्मन को दें मुंहतोड़ जवाब

 

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस