पुणे (एजेंसी)। महाराष्ट्र के पुणे में सबसे पुराने बैंक कॉसमॉस को-ऑपरेटिव बैंक में साइबर अटैक कर करोड़ों रुपये विदेशी बैंक के खातों में ट्रांसफर कर दिए गए। यह साइबर अटैक बैंक के गणेशखंड रोड स्थित मुख्यालय में किया गया है। हैकर्स ने बैंक से दो बार में 94 करोड़ रुपए विदेश के बैंक खातों में ट्रांसफर किए हैं। मामले में बैंक की ओर से पुणे के चतुशृंगी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। रिपोर्ट के अनुसार, हैकर्स ने इस अटैक को दो बार में अंजाम दिया है। पहली बार 11 अगस्त को और दूसरी बार 13 अगस्त को पैसे ट्रांसफर किए गए।

कॉसमॉस बैंक के मुख्यालय में 11 अगस्त की दोपहर 3 बजे से रात 10 बजे और 13 अगस्त की 11:30 बजे साइबर हमला किया गया है। साइबर अपराधियों ने बैंक सर्वर हैक कर 15 हजार से भी जयादा ट्रांजेक्शन किए। बैंक की ओर से पुलिस को दी गई सूचना के अनुसार हैकर्स ने कॉसमॉस को-ऑपरेटिव बैंक के मुख्यालय के एटीएम को निशाना बनाया। बैंक के अधिकारियों का कहना है कि हैकर्स ने 80.5 करोड़ रुपए डेबिट कार्ड से, 14849 ट्रांजेक्शन के जरिए और 13.9 करोड़ रुपए स्विफ्ट ट्रांजेक्शन के जरिए विदेशी खातों में ट्रांसफर किए हैं। पुलिस और साइबर क्राइम सेल की अलग-अलग टीमें मामले की जांच में जुट गई हैं।

बैंक अधिकारियों के अनुसार हैकर्स ने मालवेयर अटैक के जरिए घटना को अंजाम दिया है। हैकर्स ने पहले मालवेयर अटैक के जरिए ग्राहकों के डेबिट कार्ड्स का डाटा चुरा लिया। डाटा मिलने के बाद अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया। बैंक के शीर्ष अधिकारियों के अनुसार प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूरी घटना की जानकारी दी जाएगी। गौरतलब है कि कॉसमॉस बैंक भारत के पुराने सहकारी बैंकों में से एक है। कॉसमॉस बैंक की स्थापना सन 1906 में हुई थी।

Posted By: Arti Yadav