नई दिल्ली(एएनआई)। नदियों में, नालियों में नोट शायद गलती से गिर जाया करते थे। मंदिरों में चढ़ावा चढ़ता था लेकिन पांच सौ और हजार के नोट कम ही लोग इस्तेमाल करते थे। लेकिन अब नजारा बदल गया है। आठ नवंबर को इन नोटों पर पाबंदी के ऐलान के साथ ही नदियों और नालियों में नोट गिर नहीं रहे हैं। बल्कि गिराए जा रहे हैं। मंदिरों में जो पुजारी दानपत्र पर टकटकी लगाकर उसके भरने का इंतजार करता था, अब उसके पास लोग चढ़ावा चढ़ाने के लिए जा रहे हैं। मंदिरों में जो चढ़ावे 10 या बीस रूपए के रूप में चढ़ते थे वो अब पांच सौ और एक हजार की शक्ल में चढ़ रहे हैं। सरकार की नजरों में अब वो नोट सिर्फ कागज के टुकड़े हैं। लेकिन काले धन के कुबेरों को लगता है कि शायद उन कागजों के टुकड़ों का वो सफेद करने के साथ ही कुछ पुण्य भी कमा लेंगे।

मंदिरों से नालियों तक पहुंच रहे पुराने नोट, एक नजर

तमिलनाडु के जलकांडेश्वरर मंदिर में इतना चढ़ावा चढ़ा कि अंदाजा लगाना मुश्किल होगा। वेलोर के इस मंदिर में अब तक 44 लाख पुराने नोट चढ़ाये गए हैं बताया जा रहा है कि ये मात्रा अभी और बढ़ सकती है।

गुवाहाटी के रुक्मिनीनगर इलाके में न केवल नालियों में नोट बहाए जा रहे हैं,बल्कि पचास और एक हजार के नोट इधर धर बिखरे मिल रहे हैं। इस सिलसिले में पुलिस का कहना है कि ये पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि किन लोगों ने पुराने नोटों को नालियों में बहाने के साथ-साथ इधर उधर फेंका था।

नोट बैन का असरः 5 दिन में ही हवाला कारोबार की टूटी कमर, 80 फीसद की गिरावट

24 नवंबर तक राहत

देश में 1000 और 500 के नोट बैन करने के मुद्दे पर जनता को हो रही दिक्कतों को देखते हुए पीएम मोदी ने रविवार देर रात अपने आवास पर वरिष्ठ मंत्रियों की एक बैठक बुलाई। इस बैठक में लोगों को राहत देते हुए कई बड़े फैसले भी लिए गए। इसमें 500 और 1000 रुपये के नाेटो को अब 24 नवंबर की मध्यरात्रि तक चल सकेंगे। हालांकि इनका उपयोग कुछ जरूरी सेवाओं जैसे- अस्पताल, श्मशान घाट, मेट्रो स्टेशनों, दवा की दुकानों, पेट्रोल पंपों पर ही किया जा सकेगा। इसके अलावा शशिकांत दास ने बताया कि देश के सभी टोल पर 24 नवंबर तक कोई टैक्स भी नहीं लिया जाएगा. बिजली और पानी के बिल जैसे केंद्र सरकार, राज्य सरकार द्वारा लिए जाने वाले सभी बिलों का भुगतान 24 नवंबर तक 500 और 1000 के पुराने नोटों से किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। आरबीआई के पास पर्याप्त कैश है।

अब बदल सकेंगे 4500 रुपये, ATM की सीमा दो हजार से बढकर 2500 हुई

Posted By: Lalit Rai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस