नई दिल्ली, एएनआइ। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के गंडई गांव में एक अजीबों-गरीब घटना सामने आई है। गांव में एक जर्सी गाय ने तीन आंखों वाले बछड़े को जन्म दिया है। तीन आंखों के साथ ही बछड़े की नाक में दो की जगह चार छेद हैं और इसकी पूंछ जटाओं के समान है। इस बछड़े को देखने के लिए गांव के  साथ साथ दूरदराज के क्षेत्रों से भी भारी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। तीन आंख वाले इस बछड़े को देखने के लिए लोग कतार में खड़े हो गए है।

मकर संक्रांति यानि 14 जनवरी को शाम करीब 7 बजे गाय ने एक बछड़ा को जन्म दिया, जिसकी तीन आंखे हैं। तीसरी आंख बछड़े के नाक के ऊपर माथे पर है। तीन आंखों वाले इस बछड़े से लोगों की आस्था जुड़ गई है। लोग इस बछड़े को भगवान शिव का स्वरूप मान रहे हैं। वहीं, मंकर संक्रांति के दिन पैदा होने से बछड़े के प्रति लोगों की आस्था और गहरी हो गई है। इतना ही नहीं, बछड़े को देखने के लिए बड़ी संख्या में पहुंचने वाले लोग इसकी पूजा कर रहे हैं। लोग भगवान शिव का स्वरूप मानते हुए बछड़े के आगे धूप जलाकर फूल, नारियल, फल और पैसे चढ़ाकर इसकी पूजा कर रहे हैं।

दूसरी ओर गाय पालक नीरज चंदेल का कहना है कि पहली बार ऐसी घटना सामने आई है। उन्होंने कहा कि बछड़े के अंग हैरान करने वाले हैं। लोगों का कहना है कि बछड़े के रूप में भगवान शिव धरती पर आए हैं। लोग इकट्ठा होकर बछड़े की पूजा करके आशिर्वाद भी प्राप्त कर रहे हैं। स्थानीय पशु अस्पताल में बछड़े की जांच करवाई गई है। डाक्टरों ने बछड़े को पूरी तरह से स्वस्थ बताया है। डाक्टर्स का कहना है कि यह कोई चमत्कार नहीं है। उन्होंने बताया कि यह हार्मोनल डिसार्डर के कारण हुआ है। गाय में पेट में बछड़े का सही तरीके से विकास न होने के कारण ऐसा होता है। उन्होंने बताया कि हार्मोनल डिसार्डर के कारण कई बार बच्चे के कुछ अंग ज्यादा और कुछ अंग कम पैदा हो सकते हैं।

Edited By: Geetika Sharma