कृष्‍णा (आंध्र प्रदेश), एएनआइ। Cow attacks man for removing calf carcass चाहे इंसान हो या जानवर मां की ममता सभी में एक जैसी होती है। मां की ममता के आगे सारी कवायदें धरी की धरी रह जाती हैं। बच्चे के खोने का गम एक मां से बढ़कर कोई नहीं जानता है। अपने बच्‍चे को बचाने के लिए मां अपनी जान भी जोखिम में डालने से नहीं चूकती है। बच्‍चे को कोई जरा भी चोट पहुंचाए तो उसको मां के गुस्‍से का शिकार होना पड़ता है। ऐसा ही एक हैरत अंगेज वाकया आंध्र प्रदेश में देखने को मिला जहां एक गाय ने रिक्शाचालक पर हमला बोल दिया।

दरअसल, दो हफ्ते पहले उस गाय के बछड़े की मौत हो गई थी। इसके बाद बछड़े के शव को एक रिक्शाचालक उठाकर ले गया था। गाय ने इस पूरे वाकए को देखा था। अपने बच्चे से बिछड़ने के गम में गाय परेशान थी। दो हफ्ते बाद ही गाय ने जब उस रिक्शेवाले को मछलीपटनम बस अड्डे के पास दोबारा देखा तो उसके गुस्‍से की सीमा नहीं थी। गुस्‍साई मां ने रिक्‍शे वाले पर हमला बोल दिया। उसने अपनी सींग से रिक्शाचालक को चोट पहुंचाई। गाय के हमले को देखकर लोग रिक्‍शे वाले को बचाने के लिए दौड़े। किसी तरह रिक्शेवाले की जान बची।

स्थानीय लोगों में यह चर्चा थी कि गाय उस शख्स से अपने बच्‍चे की मौत का जिम्‍मेदार मान रही थी। शायद इसीलिए उसने रिक्‍शेवाले पर हमला बोला। लोगों के मुताबिक, गाय को उस रिक्‍शे वाले का चेहरा दो हफ्ते बाद भी याद था जो उसके मृत बछड़े को उठाकर ले गया था। हालांकि गाय के बछड़े की मौत सड़क हादसे में हुई थी। बछड़े को एक तेज रफ्तार वाहन ने टक्कर मार दी थी। रिक्शाचालक वहां से गुजर रहा था तभी उसने बछड़े को देखा था। रिक्‍शेवाले ने ही बछड़े के शव को उठाकर डिस्पोज किया था। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस