नई दिल्ली, प्रेट्र। सरकारी आंकड़ों के अनुसार करीब 11 करोड़ से अधिक लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद समय से दूसरी डोज नहीं ली है। इन लोगों ने दो डोज के बीच निर्धारित अंतराल की समय सीमा बीतने के बावजूद दूसरा टीका लेने में तत्परता नहीं दिखाई। इन लोगों के मामले में सरकार अब खास ध्यान दे रही है। उन्हें दूसरी डोज के लिए प्रेरित किया जाएगा। आंकड़ों से पता चला है कि 3.92 करोड़ से अधिक लाभार्थियों की दूसरा टीका लेने के लिए निर्धारित तिथि बीते हुए छह सप्ताह से अधिक समय हो चुका है। वहीं लगभग 1.57 करोड़ लोगों की दूसरी डोज लेने की मियाद बीते हुए चार से छह सप्ताह हो चुके हैं।

अब तक 11 करोड़ से अधिक लोगों ने समय से नहीं लगवाया दूसरा टीका

करीब 1.50 करोड़ से अधिक लोगों के मामले में यह समय दो से चार सप्ताह तक बीत चुका है। इसी तरह 3.38 करोड़ से अधिक लोगों को दूसरा टीका लगवाने में दो सप्ताह की देरी कर दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया की अध्यक्षता में बुधवार को स्वास्थ्य मंत्रियों और सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि उन्हें ऐसे लाभार्थियों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा गया है, जिन्होंने दूसरी डोज लेने में काफी देरी कर दी है। कोविशील्ड के लिए पहली और दूसरी खुराक के बीच 12 सप्ताह और कोवैक्सिन के लिए चार सप्ताह का अंतर है। गंभीर कोरोना संक्रमण और अस्पताल में भर्ती होने से पर्याप्त सुरक्षा के लिए दोनों डोज लेने की आवश्यकता होती है।

नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने दी अपने यहां सभी पात्र लोगों को पहली डोज

उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र और बिहार को मिलाकर लगभग 49 प्रतिशत ऐसे लाभार्थी हैं, जिन्हें वैक्सीन की दूसरी खुराक के लिए देर हो चुकी है।सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर उन लाभार्थियों को दूसरी खुराक देने को प्राथमिकता देने को कहा है, जिन्होंने दो खुराक के बीच निर्धारित अंतराल की समाप्ति के बाद भी टीका नहीं लगवाया है। भारत की 76 प्रतिशत से अधिक वयस्क आबादी को कोरोना वैक्सीन की कम से कम एक खुराक मिली है। नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने अपने यहां सभी पात्र लोगों को पहली डोज दी है।

लक्षद्वीप, सिक्किम, गोवा, लद्दाख, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, मिजोरम, दमन और दीव, अरुणाचल प्रदेश, और जम्मू व कश्मीर ऐसे राज्य हैं जहां शत प्रतिशत वयस्क आबादी को टीका लग चुका है।स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि देश के लगभग 94 करोड़ वयस्कों में से 32 प्रतिशत से अधिक वयस्कों को दोनों खुराक दी गई हैं।

Edited By: Arun Kumar Singh