हैदराबाद, आइएएनएस। कोरोना काल में महामारी से बचने के लिए हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Hyderabad's Rajiv Gandhi International Airport- RGIA) पर अत्याधुनिक थर्मल स्कैनर लगाया जाएगा, जिससे बड़े स्तर पर कोरोना संक्रमितों की जांच की जा सकेगी। यह स्कैनर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने एशियाई विकास बैंक के साथ कोऑर्डिनेशन कर एयरपोर्ट को प्रदान किया है। इसके लिए यूनिसेफ द्वारा फंड दिया गया था। एयरपोर्ट पर मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा इसका इस्तेमाल किया जाएगा, इसके साथ ही 24 घंटे यात्रियों की जांच कर रहे अधिकारियों का काम भी आसान हो जाएगा और उन्हें भी थोड़ी राहत मिलेगी।

यह नया थर्मल स्कैनर मास फीवर स्क्रीनिंग सिस्टम है, जो तापमान चेक करने के साथ स्कैनिंग, डिटेक्टिंग और ट्रैकिंग भी करेगा। यह आसानी से अधिक तापमान वाले व्यक्ति का पता लगा सकेगा। यह एक ऑटोमैटिक सिस्टम है जो किसी भी मानवीय हस्तक्षेप के बिना, आसपास के परिवेश के तापमान को समायोजित और अनुकूल कर सकता है।

GHIAL (GMR Hyderabad International Airport Limited) के सीईओ रादीर पनिकर (Radeep Panicker) ने कहा कि हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इस आधुनिक उपकरण को स्थापित करने के लिए हम स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के शुक्रगुजार हैं। हम इसके लिए प्रायोजकों एडीबी और यूनिसेफ के आभारी हैं। इस सुविधा के साथ 24 घंटे एयरपोर्ट पर काम कर रहे स्वास्थ्य अधिकारियों को काफी मदद मिलेगी, इससे उनका काम काफी आसान हो जाएगा।

राजीव गांधी एयरपोर्ट पर लगातार वंदे भारत मिशन के तहत दूसरे देशों से फ्लाईट्स आ रही हैं। सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों और एयरलाइन चालक दल को कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए हवाई अड्डे के स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा अनिवार्य स्वास्थ्य जांच से गुजरना होता है। बता दें कि हैदराबाद एयरपोर्ट पर कोरोना काल के दौरान अब तक 40,000 अंतरराष्ट्रीय फ्लाईट्स आ चुकी हैं।

बता दें कि, स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना के अब तक कुल 17 लाख 50 हजार 724 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से पांच लाख 67 हजार 730 एक्टिव केस हैं, वहीं 11 लाख 45 हजार 630 मरीज ठीक हो गए हैं और 37 हजार 364 मरीजों की मौत हो गई है।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस