नई दिल्ली, एजेंसी। प्रसिद्ध शायर डॉ. राहत इंदौरी का इंदौर में मंगलवार शाम करीब पांच बजे निधन हो गया। इसके बाद इंदौरी साहब आज रात साढ़े नौ बजे छोटी खजरानी (इंदौर) कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक कर दिए गए। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उनको दफनाया गया। अरबिंदो अस्‍पताल से ही उनके शव को एंबुलेंस के जरिए कब्रिस्‍तान लाया गया। वहां नमाज अदा की गई। चुनिंदा लोगों की मौजूदगी में उनकी अंत्‍येष्टि की गई। इसके साथ ही उनके ट्विटर अकाउंट से अपील की गई कि लोग अपने-अपने घरों से ही राहत साहब की आत्मा की शांति के लिए दुआ करें।

अंतिम सांस के साथ ही अब वे 'जमींदार" हो गए हैं। दरअसल, शायरी के लंबे दौर में उन्होंने कभी कहा था-

कश्ती तेरा नसीब चमकदार कर दिया, इस पार के थपेड़ों ने उस पार कर दिया।

दो गज सही ये मेरी मिलकियत तो है, ऐ मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया।

इस शेर में जमींदार होने से उनका आशय था कि जिस जमीन में उन्हें दफनाया जाएगा, वह भले ही दो गज की हो, मगर हमेशा के लिए उनकी मिलकियत (संपत्ति) हो जाएगी। उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। कोरोना से संक्रमित होने की जानकारी राहत इंदौरी ने खुद ट्वीट कर दी थी। 

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, शाम को उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया। उनके दोनों फेफड़ों में कोरोना का संक्रमण और किडनी में सूजन थी। 

सुबह उन्होंने ट्वीट किया था कि कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अरविंदो अस्पताल में भर्ती हूं, दुआ कीजिए जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं। एक और आग्रह है कि मुझे या घर के लोगों को फोन ना करें, मेरी खैरियत टि्वटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी। इस ट्वीट के बाद राहत इंदौरी के चाहने वाले जल्द से जल्द उनके स्वस्थ होने की दुआ के साथ मैसेज लिख रहे थे, लेकिन देर शाम उनके निधन की खबर आई।

राहत इंदौरी के निधन के बाद अरबिंदो अस्पताल का अहम बयान सामने आया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार डॉ विनोद भंडारी ने कहा कि उन्हें आज (मंगलवार) दो बार दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका। कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके शरीर में 60 फीसद तक निमोनिया था।

बता दें कि राहत इंदौरी मशहूर शायर थे, साथ ही वह बॉलीवुड के लिए भी कई गाने लिखते आए। राहत इंदौरी की उम्र 70 साल थी, ऐसे में उन्हें डॉक्टरों की सलाह पर अस्पताल में भर्ती किया गया था।

इंदौरी के निधन की खबर आने के बाद सोशल मीडिया में शोक की लहर दौड़ गई। सोशल मीडिया यूजर्स उनके शेर और शायरी लिखकर भावभीनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं और उन्हें याद कर रहे हैं। 

यह भी देखें: राहत इंदौरी का हार्ट अटैक से निधन, कोरोना पॉजिटिव आई थी रिपोर्ट

गौरतलब है कि कि मध्य प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी तेजी से फैल हुआ है। इंदौर भी शुरुआत में कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट बनकर उभरा था। बीते दिनों ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कोरोना की चपेट में आए थे, हालांकि अब उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है।

ये भी पढ़ेंः Rahat Indori Death: राहत इंदौरी का दिल्ली से था दिल का नाता, सब काम छोड़कर आते थे मुशायरे में

Posted By: Dhyanendra Singh

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस