नई दिल्‍ली, पीटीआइ। भारत बायोटेक की 'कोवाक्सिन' (COVAXIN) के बाद अब हैदाराबाद स्थित फार्मास्यूटिकल कंपनी जाइडस कैडिला हेल्‍थकेयर लि. ने भी कोविड-19 वैक्‍सीन बनाने की बात कही है। यही नहीं ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (Drugs Controller General of India, DCGI) ने जाइडस कैडिला को इस वैक्‍सीन के इंसानों पर ट्रायल को मंजूरी भी दे दी है। इसके साथ ही इंसानों पर परीक्षणों के लिए अनुमति हासिल करने वाली जाइडस कैडिला देश की दूसरी कंपनी बन गई है। अभी हाल ही में हैदराबाद की भारत बायोटेक को ऐसे ट्रायल की इजाजत मिली थी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि देश में तेजी से बढ़ रही Covid-19 महामारी को देखते हुए विशेषज्ञ समिति की सिफारिश के बाद एप्रूवल प्रक्रिया को तेजी दी गई थी। जाइडस कैडिला का दावा है कि उसकी इस वैक्‍सीन जानवरों पर किए गए ट्रॉयल में कारगर साबित हुई है। जाइडस कैडिला ने जानवरों पर किए गए परीक्षणों की रिपोर्ट ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को सौंपी थी जिसके अध्‍ययन के बाद डीजीसीआइ के डॉ. वीजी सोमानी (Dr VG Somani) Covid-19 ने वैक्सीन के मानव परीक्षण के पहले और दूसरे चरण की मंजूरी दी।

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी (Zydus Cadila Healthcare Ltd) जल्‍द ही इंसानों पर वैक्‍सीन के ट्रायल के लिए इंरोलमेंट शुरू करेगी। सूत्रों ने बताया कि पहले और दूसरे चरण के ट्रायल को लगभग तीन महीनों में पूरा कर लिया जाएगा। हाल ही में भारत की अग्रणी वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने ऐलान किया था कि उसने कोरोना पर प्रभावी वैक्‍सीन 'कोवाक्सिन' (COVAXIN) बना ली है। भारत बायोटेक को भी मानव परीक्षण के पहले और दूसरे चरण के इंसानी ट्रायल को मंजूरी दे दी गई है।

भारत बायोटेक ने कहा था कि उसने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आइसीएमआर और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआइवी) के साथ मिलकर इसे तैयार किया है। इस बीच आईसीएमआर यानी भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने देश के पहले स्वदेशी कोविड-19 टीके के इंसानों पर क्लीनिकल ट्रायल के लिए 12 संस्थानों का चयन कर लिया है। इनमें से एक संस्‍थान ओडिशा जबकि अन्य विशाखापत्तनम, रोहतक, नई दिल्ली, पटना, बेलगाम (कर्नाटक), नागपुर, गोरखपुर, कट्टानकुलतुर (तमिलनाडु), हैदराबाद, आर्य नगर, कानपुर (उत्तर प्रदेश) और गोवा में स्थित हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप