भोपाल, एएनआइ। मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि  हमने 1 लाख तक बेड की संख्या बढ़ाने का फैसला किया है।  इनमें से कुछ कोविड केयर होंगे। हर जिले में कम से कम एक कोविड केयर सेंटर होंगे। सरकार प्राइवेट सेक्टर से भी बेड ले रही है। इस दौरान प्राइवेट अस्पतालों की ताकत को भी इस्तेमाल में लाया जाएगा। प्रदेश में ऑक्सीजन सप्लाई का कोई संकट नहीं है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ऑक्सीजन को जारी रखने के लिए मैंने गुजरात और केंद्र सरकार से बात की है। भिलाई (छत्तीसगढ़) से हमें अतिरिक्त ऑक्सीजन की आपूर्ति मिलने लगी है, हमने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि कल हमने इंजेक्शन (रेमेडिसविर) खरीदने का फैसला किया था, जिसकी कमी है। दवा खरीद के लिए एक प्रणाली बनाई गई है। हम इसे जहां भी जरूरत होगी, उपलब्ध कराएंगे। दवाओं की कमी न हो इसके लिए पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी।

ज्ञात हो कि एमपी में कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभी शहरी क्षेत्रों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन शहरों के लिए जहां कोरोना मामलों में वृद्धि हुई है, संकट के दौरान एमजीएमटी समूह की बैठक के बाद उचित कार्रवाई करेगा। साथ ही बताया कि बड़े शहरों में कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे।

सप्ताह में पांच दिन खुलेंगे सरकारी कार्यालय

शिवराज चौहान ने कहा कि मेरी मंशा कभी भी लॉकडाउन लगाने की नहीं रही है। उधर, बुधवार को एमपी सरकार ने आदेश जारी किया था कि समस्त नगरीय क्षेत्रों में 8 अप्रैल से आगामी आदेश तक प्रत्येक रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रात का कर्फ्यू लागू रहेगा। वहीं प्रदेश के समस्त जिलों के नगरीय क्षेत्रों में आगामी आदेश तक प्रत्येक रविवार लॉकडाउन रहेगा। अब सप्ताह में पांच दिन सरकारी कार्यालय खुले रहेंगे। बता दें कि इससे पहले प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए वीकेंड लॉकडाउन का एलान भी किया था।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021