नई दिल्ली, एजेंसियां। चीन से वापस लाए जाने के बाद मानेसर आर्मी कैंप में विशेष निगरानी में रखे गए 248 लोगों को घर वापस लौटने की अनुमति मिल गई है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार इन्हें वायरस से संक्रमित नहीं होने की पुष्टि के बाद उन्हें आज छुट्टी दे दी गई।

इन्हें चीन में वायरस के केंद्र हुबेई प्रांत के वुहान शहर से वापस लाया गया था। इन लोगों को दो फेज (एक और दो फरवरी) में वुहान से एयर इंडिया के विशेष विमान से स्वदेश वापस लाया गया था। मेजर जनरल आर दत्ता ने कहा, 'सभी लोग स्वस्थ हैं। हमने उन्हें अलग-अलग ग्रुप में बांट दिया था।डॉक्टरों की एक टीम ने उनकी रोजाना जांच की। 

समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए वुहान से वापस लाए गए 300 भारतीय छात्रों के लिए आपातकालीन तौर पर भारतीय सेना ने मानेसर में निगरानी कैंप बनाया। इसे पहले दो सेक्टर में और फिर बैरक में बांटा। ज्यादातर छात्रों को अलग रखा गया।   

छात्रों की रोजाना मेडिकल जांच होती थी

यहां इन सभी छात्रों की रोजाना मेडिकल जांच होती थी। इसके अलावा सभी कर्मचारियों, छात्रों के स्वास्थ्य का देखभाल करने वाले कर्मचारियों और हाउसकीपिंग स्टाफ को हर समय अपने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) पहने रहना पड़ता था। एक अधिकारी ने पहले कहा था कि 14 दिनों के बाद, बिना किसी लक्षण वाले व्यक्तियों को आगे की निगरानी के लिए जिला और राज्य निगरानी इकाइयों को भेजे गए उनके विस्तृत दस्तावेज के साथ घर जाने की अनुमति होगी।

मालदीव के सात लोग भी भारतीय नागरिकों के साथ वापस लाए गए

इस विशेष विमान से वुहान से मालदीव के सात लोग भी भारतीय नागरिकों के साथ वापस लाए गए थे। इन्हें सोमवार रात को  छावला में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के निगरानी कैंप से छुट्टि दे दी गई। दो विशेष अभियानों में चीन से कुल 640 भारतीयों को वापस लाया गया था। वापस आने के तुरंत बाद इन्हें इंडियन आर्मी और आइटीबीपी के कैंप में निगरानी में रखा गया था। यहां ये दो हफ्ते से ज्यादा वक्त तक रहे। 

चीन में 1800 से ज्यादा लोगों की मौत

कोरोना वायरस का पहला मामला चीन के वुहान शहर में दिसंबर में आया था। इसके बाद से भारत समेत दुनियाभर के कई देशों में इससे संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई। चीन में इससे 1800 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।  

 Coronavirus से संबंधित खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस