नई दिल्ली, एजेंसी। भारत में बेकाबू कोरोना की रफ्तार थमने का नाम ही नहीं ले रही है। देश में कोरोना के नए केस रोज रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना के 2 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं, जबकि लगातार दूसरे दिन एक हजार से अधिक मौतें हुई हैं। वहीं, एक्टिव मामलों का आंकड़ा 14 लाख के पार पहुंच गया है। कोरोना के प्रतिदिन के आंकड़े खौफनाक हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2,00,739 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 1000 से अधिक मौतों के साथ कोविड से मरने वालों की कुल संख्या 1,73,123 हो गई है। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से लगातार पॉजिटिव मामले (Positive Cases) बढ़ने के मुकाबले कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर में गिरावट दर्ज की जा रही है। महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोना के 61,695 नए मामले रिपोर्ट हुए हैं और 349 लोगों की मौत हुई है। कुल 36,39,855 केस हुए है। अब तक 59,153 की मौत हुई है। वहीं दिल्ली में आज कोरोना के 16,699 नए मामले रिपोर्ट हुए हैं और 112 लोगों की मौत हुई। अब तक कुल केस 7,18,137 हुए है। दिल्ली में अब तक 11,652 लोगों की मौत हुई है। ऐसे में राज्य सरकारें अब ज्यादा सख्ती बरत रही हैं।

यूपी के कई जिलों में सख्‍ती बढ़ी, नाइट कर्फ्यू की टाइमिंग भी बदली

यूपी में महामारी कोरोना वायरस लगातार फैलती जा रही है। जिन शहरों में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा केस सामने आ रहे हैं, वहां पर नाइट कर्फ्यू लागू है। अब योगी सरकार ने नाइट कर्फ्यू को लेकर बड़ा ऐलान किया है। जिन शहरों में कोरोना वायरस के 2000 से ज्यादा केस हैं, उन जिलों में नाइट कर्फ्यू रात को 8 बजे से सुबह 7 बजे तक लागू होगा। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए गठित की गई टीम-11 के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। इस दौरान उन्होंने स्थिति की समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए। मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि जिन जिलों में 2000 से ज्यादा कोरोना मरीज हैं, वहां पर नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ाया जाए। उन्होंने कहा कि लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, गोरखपुर सहित 2,000 से अधिक एक्टिव केस वाले सभी 10 जनपदों में नाइट कर्फ्यू अब रात को 8 बजे से सुबह 7 बजे तक लागू होगा। योगी ने आदेश दिए कि इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू किया जाए।

दिल्ली में लगेगा वीकेंड कर्फ्यू, सीएम केजरीवाल ने किया ऐलान

दिल्ली सरकार ने सप्ताहांत (वीकेंड) कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। इस दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी और इससे जुड़े लोगों को सरकार बिना परेशानी के जल्द से जल्द पास जारी करेगी। चूंकि, रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक रात का क‌र्फ्यू पहले से ही लागू है। ऐसे में शुक्रवार रात 10 बजे से ही कफ्र्यू के तहत पाबंदियां शुरू हो जाएंगी, जो सोमवार सुबह पांच बजे तक प्रभावी रहेंगी। उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने डिजिटल पत्रकार वार्ता कर सप्ताहांत (वीकेंड) कर्फ्यू लगाने का एलान किया। उन्होंने कहा कि कार्यदिवस के दौरान लोगों को अपने काम पर जाना पड़ता है, लेकिन सप्ताहांत पर जो लोग घर से बाहर निकलते हैं, उनमें ज्यादातर लोग मनोरंजन या दूसरी गतिविधियों के लिए निकलते हैं, जो रोकी जा सकती हैं। इसलिए कोरोना की चेन तोड़ने के लिए वीकेंड पर कर्फ्यू लगाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कोरोना से संक्रमित दिल्ली में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को यहां के किसी न किसी अस्पताल में बेड मिलना चाहिए। लोग अपनी पसंद के अस्पताल में जाने पर जोर न दें, वरना सरकार के लिए मुश्किल हो जाएगी। आश्वस्त रहें अभी दिल्ली के अंदर कोविड बेड की कमी नहीं है। इस वक्त पांच हजार से ज्यादा बेड उपलब्ध हैं और बड़े स्तर पर बेड बढ़ाने के प्रयास कर रहे है। आक्सीजन बेड भी बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं।शादी के लिए जारी होंगे कफ्र्यू पासकेजरीवाल ने कहा कि अभी शादी का सीजन है। कई लोगों की शादी की तारीख तय हो चुकी है। ऐसे तमाम लोगों को कर्फ्यू पास दिए जाएंगे। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग भी कफ्र्यू पास के लिए आवेदन कर सकते हैं।

उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर कहा- महामारी को प्राकृतिक आपदा घोषित करें

महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में अप्रैल के अंत तक 12 लाख के करीब सक्रिय मामले हो सकते हैं। उन्होंने पीएम मोदी को पत्र लिखकर यह बात कही है। इस चिट्ठी में मुख्यमंत्री ने केंद्र के सामने कई मांगें भी रखी हैं। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में फिलहाल 5.64 लाख सक्रिय मामले हैं। पिछले साल सितंबर की तुलना में यह लगभग 88 फीसद अधिक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसा कि आप जानते हैं, सितंबर 2020 (पहली लहर का पीक) के दौरान पूरे देश में 10.5 लाख सक्रिय मामले थे। वर्तमान स्थिति पर यह अनुमान किया जा सकता है कि आने वाले समय में अकेले महाराष्ट्र में 30 अप्रैल तक 11.9 लाख मामले हो सकते हैं। प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी में उद्धव ठाकरे ने केंद्र सरकार से कोरोना महामारी को प्राकृतिक आपदा घोषित करने पर विचार करने का अनुरोध किया है। एक बार महामारी को प्राकृतिक आपदा घोषित किए जाने के बाद, राज्य सरकारें प्रभावित लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) का उपयोग करने में सक्षम होंगी। 

उत्तराखंड सरकार ने जारी की नई गाइड लाइन

-कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल व स्पा किए बंद

-सिनेमा हाल, रेस्टोरेंट व जिम 50 फीसद क्षमता से होंगे संचालित

-यात्री वाहनों को 50 फीसद क्षमता के साथ संचालन की अनुमति

-धार्मिक, राजनीतिक एवं सामाजिक आयोजन तथा विवाह में अधिकतम 200 व्यक्ति ही शामिल हो सकेंगे। हालांकि, कुंभ मेला क्षेत्र में पुरानी गाइडलाइन ही प्रभावी रहेगी।

-राष्ट्रीय व राज्य राजमार्गो पर आपात स्थिति में ही आवाजाही

-कार्बेट पार्क में पर्यटन पर लगा ग्रहण, डे सफारी के लिए पर्यटक नहीं पहुंच रहे हैं, रात्रि विश्राम के लिए भी लोगों की तादाद आधी रह गई है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021