तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। कोरोना वायरस के लॉकडाउन के बीच तिरुवनंतपुरम जनरल पोस्ट ऑफिस के कर्मचारी जरूरतमंदों को खाना उपलब्ध करा रहे हैं। कर्मचारी अपने घरों पर खाना तैयार करके त्रिवेंद्रम कॉर्पोरेशन भेज रहे हैं और फिर यहां से खाना जरूरतमंदों तक पहुंचाया जाता है।

इसी तरह देश के अन्य क्षेत्रों में भी गरीबों और जरूरतमंदों की मदद के लिए लोग आगे आ रहे हैं। कहीं लोगों को कम पैसों में भरपेट खाना उपलब्ध करवाया जा रहा है तो वहीं कई जगह मुफ्त में लोगों को खाना दिया जा रहा है। इसके अलावा कई ऐसे भी लोग देखे गए हैं जो पैसे इकट्ठा करके गरीबों को खाने की चीजें मुहैया करवा रहे हैं।

 

जरूररतमंदों की सहायता के लिए आगे आई किन्नर

पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में रहने वाली एक किन्नर बेसहारा लोगों का सहारा बनकर खड़ी है। 60 वर्षीय किन्नर पाखी साव ने मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी के रिलीफ फंड में एक लाख रुपये की राशि प्रदान की है। उन्होंने यह राशि अपने बाकी जीवन के लिए बचाकर रखी थी जो उन्होंने ऐसी मुश्किल घड़ी में परेशान लोगों को देने का निर्णय लिया है। उन्होंने शुक्रवार को एक्सिस बैंक के सिंगुर ब्रांच में जाकर बैंक मैनेजर को 1 लाख, 1 हजार रुपये का चेक दिया और उनसे इस चेक को मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में जमा करने को आग्रह किया।

बुजुर्ग घर पर अकेले हैं तो सामान पहुंचाएगी पुलिस

लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते हिमाचल प्रदेश पुलिस ने बुजुर्गों के लिए अहम निर्णय लिया है। यहां जिला सिरमौर पुलिस ने घर पर अकेले रह रहे बुजुर्गों को दवाएं और राशन का सामान घर पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। इस दौरान व्यक्ति सामान को नजदीकी दुकान से खुद चुनेगा और पैसे के लेन-देन की बात भी फोन पर ही स्वयं करेगा। इसके बाद पुलिस उस व्यक्ति का सामान खुद घर तक पहुंचाएगी। इसके अलावा यदि व्यक्ति पैसे देने में असमर्थ होगा तो पैसे का प्रबंध भी पुलिस ही करेगी। 

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस