तिरुवनन्तपुरम, एजेंसी। राज्य में तीसरे मामले की पुष्टि के बाद केरल सरकार ने कोरोना वायरस को राजकीय आपदा घोषित कर दिया है। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने बताया कि मुख्यमंत्री की सलाह पर यह फैसला किया गया है। राज्य में अलर्ट जारी कर दिया गया है और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए हर उपाय किए जा रहे हैं। इससे पहले, शैलजा ने विधानसभा में कहा था कि हाल ही में वुहान से लौटे कासरगोड के छात्र को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है।

इस बाबत निर्णय मुख्य सचिव टॉम जोस की अध्यक्षता वाली राजकीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की शीर्ष समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। सरकारी अस्पताल की ओर जारी चिकित्सकीय बुलेटिन में कहा गया है कि जिन छात्रों को यह संक्रमण होने की पुष्टि हुई है। उनके स्वास्थ्य की स्थिति संतोषजनक है। इससे पहले चीन के वुहान में पढ़ने वाले दो छात्रों को त्रिशूर और अलाप्पुझा में कोरोना वायरस से पीड़ित होने का पता चला था।

चीन के नागरिकों के ई-वीजा पर रोक

कोरोना वायरस को लेकर केंद्रीय मंत्रिमंडलीय भी पूरी तरह चौकन्ना है। मंत्रिमंडलीय समूह के सामने प्रजेंटेशन में कोराना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अब तक उठाए गए कदमों की जानकारी दी गई। जिनमें चीन के नागरिकों के ई-वीजा पर रोक, जारी हो चुके ई-वीजा को निलंबित करना और जरूरी काम से भारत आने वाले नागरिकों को पहले वहां के भारतीय दूतावास या कांस्यूलेट से संपर्क करने का निर्देश शामिल था।

चीन से 645 लोगों को लाया गया

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों की माने तो अभी तक चीन से 645 लोगों को लाया गया है, जिन्हें सेना और आइटीबीपी के विशेष कैंपों में रखा गया है। इसके साथ ही चीन से आने वाले 72,353 यात्रियों की 11 हवाई अड्डों पर स्क्रीनिंग की जा चुकी है। चीन और हांगकांग के अलावा स्क्रीनिंग का दायरा सिंगापुर और थाईलैंड से आने वाले विमानों के लिए भी बढ़ा दिया गया है।

वही, राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस जैसे मिलते जुलते लक्षण देखे जाने के बाद पांच मरीजों को दिल्‍ली कैंट बेस अस्‍पताल में भर्ती किया गया है। इन मरीजों को खांसी और जुकाम के लक्षण दिखने के बाद बेहतर इलाज के लिए मानेसर के क्वारंटाइन फैसिलिटी (Quarantine Facility Manesar) से बेस अस्पताल जाया गया है। इसके साथ ही इनके ब्लड सेंपलों को जांच के लिए एम्‍स भेजा गया था। एक मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि चार अन्‍य की रिपोर्ट का अभी इंतजार है।

यह भी पढ़ें:-

Coronavirus: गंभीर खतरे में भारत समेत दुनिया के 30 देश, अगर चीन जाने का है इरादा तो...

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस