नई दिल्‍ली, एजेंसी। कोरोना वायरस को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय और गृह मंत्रालय की शनिवार को संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस हुई। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि शुक्रवार से रिपोर्ट किए गए दो मौतों सहित करीब दौ सौ नए मामले सामने आए हैं। देश में अब तक 918 मामले सामने आए हैं। इनमें 47 विमौत देशी शामिल हैं। इस वायरस के चलते जान गंवाने वाले 24 व्यक्ति और उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके 83 लोग शामिल हैं।

यहां के लोगों की हुई मौत 

अब तक महाराष्ट्र में छह, गुजरात में चार, कर्नाटक में तीन, मध्य प्रदेश और दिल्ली में दो-दो और तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, बंगाल, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना और केरल में एक-एक व्यक्ति की जान जा चुकी है। जबकि, मुंबई में एक दिन पहले जिस 85 साल के डॉक्टर की मौत हुई थी, उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

डॉक्टर की मौत के बाद अस्‍पताल सील 

डॉक्टर की मौत के बाद सैफी अस्पताल के आइसीयू, सीटी स्कैन और कुछ अन्य विभागों को सील कर दिया गया है। इस डॉक्टर के 50 साल के बेटे को भी पॉजिटिव पाया गया है। इन लोगों के संपर्क में आए सैफी अस्पताल के डॉक्टर और मरीजों समेत 40 लोगों को आइसोलेट कर दिया गया है और उनकी जांच कराई जा रही है।

एम्स की मदद से COVID-19 मरीजों के प्रबंधन को लेकर प्रशिक्षण

उन्‍होंने कहा कि देश भर के डॉक्टरों को दिल्‍ली के एम्स की मदद से COVID-19 मरीजों के प्रबंधन को लेकर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि हम लगातार डेडिकेटेड COVID-19 अस्पतालों के लिए राज्यों के साथ चर्चा में लगे हुए हैं। लव अग्रवाल ने कहा कि सोशल डिस्‍टेंसिंग और लॉकडाउन कोरोना वायरस की ट्रांसमिशन की श्रृंखला को तोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। उन्‍होंने कहा कि हम कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अपनी जिम्‍मेदारी को पूर्वनिर्धारित और वर्गीकृत किए हुए हैं। 

राज्‍यों को प्रवासी श्रमिकों के लिए आपदा कोष का उपयोग करने के लिए कहा

गृह मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव पुण्‍य सलिला श्रीवास्‍तव ने कहा कि राज्यों को प्रवासी श्रमिकों के लिए राहत उपायों के लिए अपने आपदा कोष का उपयोग करने के लिए कहा गया है। शिविर लगाने के लिए भी निर्देश दिया गया है।

ICMR के डॉ. रमन आर गंगाखेडकर ने कहा कि 400 लोगों का अब तक निजी लैब्‍स में टेस्‍ट किया जा चुका है और 44 लैब्‍स को अनुमति दी गई है।    

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस