भोपाल, जेएनएन। मध्य प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के टीकाकरण पांच मई तक शुरू होने की उम्मीद है। सरकारी स्तर पर तैयारियों के मद्देनजर कहा जा रहा है कि इस तारीख तक टीकाकरण अभियान प्रारंभ हो जाएगा। फिलहाल यह टीका उन्हीं लोगों को लगेगा, जिन्होंने पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया है। राज्य सरकार ने सभी को निशुल्क टीका लगाने के लिए 2700 करोड़ रुपये का प्रविधान किया है। टीकाकरण का कार्यक्रम एक मई से शुरू होना था, लेकिन डोज नहीं मिलने से इसमें देरी हो रही है।

सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट को 45 लाख तो बायोटेक को 10 लाख टीकों का ऑर्डर दिया है। अनुमान है कि तीन या चार मई तक इनमें से तीन से चार लाख डोज प्रदेश को मिल जाएंगे। इसके बाद इन्हें सभी टीकाकरण केंद्रों पर भेजने की व्यवस्था की जाएगी। पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाने वालों को ही टीका लगाने की व्यवस्था के पीछे तर्क दिया गया है कि टीकाकरण केंद्रों पर अनावश्यक भीड़ को रोकने के लिए यह इंतजाम किए हैं। कोरोना संक्रमण के दौर में टीका लगवाने के दौरान भी लोग कोरोना गाइडलाइन का पालन करें, यह आवश्यक है। उधर, प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारी टीका बनाने वाली कंपनियों से सतत संपर्क में हैं।

Edited By: Neel Rajput