जबलपुर, राज्‍य ब्‍यूरो। Controversy On  Mahatma Gandhi Play: मध्य प्रदेश के जबलपुर में महात्मा गांधी की जयंती पर एक निजी स्कूल में नाटक का मंचन विवादों में आ गया है। दरअसल, इसमें एक छात्र सफेद शर्ट-खाकी हाफ पैंट और टोपी पहनकर गांधी की वेशभूषा में खड़े छात्र को गोली मारने की मुद्रा में है।

फोटो वायरल होने के बाद बढ़ा विवाद  

जबलपुर के स्मॉल वंडर सीनियर सेकंडरी स्कूल में मंचित नाटक का फोटो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद विवाद बढ़ा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पदाधिकारियों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ शुक्रवार को लार्डगंज थाने में शिकायत दर्ज कराई है। उनका कहना है कि एक छात्र को आरएसएस की पोशाक पहनाकर गोडसे का मंचन कराया गया। यह सब संघ की छवि खराब करने के लिए किया गया।

संघ को आहत करने का उद्देश्य नहीं

स्कूल प्रबंधन का कहना है कि संघ को आहत करने का उद्देश्य नहीं था। यह नाटक नहीं, बल्कि स्कूल में झांकी बनाई गई थी। एक छात्र को खाकी ड्रेस में आने को कहा गया था, परंतु वह सफेद शर्ट और खाकी हाफ पैंट में पहुंच गया। छात्र जो यूनिफॉर्म पहनी थी, उसमें न डंडा था और न ही बेल्ट। इससे यह नहीं कहा जा सकता कि यह यूनिफॉर्म आरएसएस की है।

अनजाने में हुई गलती 

स्मॉल वंडर स्कूल की डायरेक्टर पूनम अग्रवाल का कहना है कि इस मामले को बड़ा मुद्दा बनाया जा रहा है। स्कूल प्रबंधन किसी संगठन को आहत नहीं करना चाहता है। एक शिकायत पर थाने में जवाब दे चुके हैं। एक शिक्षक क्षमा याचना पत्र लेकर जगह-जगह जाकर अनजाने में हुई गलती की माफी मांग रहे हैं।

गोडसे को आरएसएस से न जोड़ा जाए

महाकोशल प्रांत के प्रांत संघ चालक प्रशांत सिंह ने कहा कि इस तरह के आयोजन स्कूल में नहीं होने चाहिए। इतिहास को तोड़-मरोड़कर बच्चों को परोसा जा रहा है, जबकि कोर्ट भी कह चुका है कि नाथूराम गोडसे को आरएसएस से न जोड़ा जाए। बावजूद इसके स्कूल प्रबंधन ने ऐसे नाटक का मंचन किया।

लार्डगंज के थाना प्रभारी मधुर पटेरिया ने कहा कि मामले की शिकायत मिली है। यह पुलिस अहस्तक्षेप योग्य मामला है। जिस पर धारा 155 (शिकायतकर्ता को कोर्ट जाने की सलाह) की कार्रवाई की गई है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप