हैदराबाद,एएनआइ। तेलंगाना में ट्रांसपोर्ट कर्मचारियों पिछले कई दिनों से हड़ताल कर रहे हैं। सोमवार को भी ये हड़ताल जारी रही। हालांकि, इस प्रदर्शन में सड़क परिवहन निगम (RTC) के कर्मचारियों का साथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने दिया। कांग्रेस कार्यकर्ता और RTC के कर्मचारियों ने हैदराबाद के प्रगति भवन में धरना दिया। कांग्रेस कार्यकर्ता, तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम के एक ड्राइवर की मौत के खिलाफ विरोध कर रहे। दरअसल, ड्राइवर  ने 12 अक्टूबर को खम्मम में खुद को आग लगा ली थी। हालांकि, पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को हिरासत में ले लिया है। 

 

तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम (TSRTC) के कर्मचारी राज्य सरकार के साथ TSRTC के विलय की मांग को लेकर 5 अक्टूबर 2019 से हड़ताल और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। दरअसल, तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम  के कर्मचारियों की काफी सारी मांगे है। जिनमें से एक सरकार तेलंगाना सरकार में विलय भी है। 

कई संगठनों का मिल रहा समर्थन

दरअसल, तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम  के कर्मचारियों की काफी सारी मांगे है। जिनमें से एक सरकार तेलंगाना सरकार में विलय भी है। शनिवार को कर्मचारियों ने सरकार के  सामने अपनी 26 मांगे पेश की थी। इन लोगों को कई राजनीतिक पार्टियों जैसे तेलगू देशम पार्टी, तेलांगना जन समिति, कांग्रेस, भाजपा, ट्रेड यूनियनों सहित कई संगठनों का समर्थन मिल रहा है।

वहीं, राज्य सरकार ने अब तक तेलंगाना में हड़ताल पर गए करीब 48,000 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। हड़ताल के चलते सोमवार तक स्कूल और कॉलेजों को बंद रखने का आदेश दिया है। वहीं, वेतन ना मिलने के कारण दो कर्मचारियों ने आत्महत्या भी कर ली थी। इससे पहले हाईकोर्ट ने राज्य सरकार के साथ ही केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए आदेश दिया था कि वह हड़ताल को खत्म करने के लिए कदम उठाएं और करीब  49,190 कर्मचारियों के सितंबर माह का भुगतान करें। इसके लिए उन्हें 21 अक्टूबर तक का समय दिया गया। फिलहाल 1,200 कर्मचारी ही राज्य परिवहन निगम में ऑन रोल हैं और काम कर रहे हैं।  

 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप