नई दिल्ली। केंद्रीय बजट में ईपीएफ में हुए बदलाव को वापस करवाने की मांग को लेकर कांग्रेस आज विभिन्न कर्मचारी संगठनों के साथ मिलकर जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन कर रही है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में कांग्रेस के सैंकड़ो कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ बैनर और पोस्टर लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। पुलिस ने भी प्रदर्शन को देखते हुए भारी सुरक्षा इंतजाम कर रखे हैं। पुलिस ने जंतर मंतर से आगे रोकने के लिए बैरिगेटिंग कर दी है साथ ही साथ भारी सुरक्षाबलों को भी तैनात कर रखा है।

क्या है ईपीएफ टैक्स?

कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) पर टैक्स लगाने का बजट प्रस्ताव वापस वापस लिया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को इस पर दोबारा विचार करने को कहा है। मंगलवार को वित्त मंत्री संसद में यह प्रस्ताव वापस लिए जाने की घोषणा कर सकते हैं।

गौरतलब है कि 29 फरवरी को पेश हुए बजट के बाद से ईपीएफ के 60 फीसदी हिस्से व इसके ब्याज पर टैक्स लगने को लेकर विरोध हो रहा है और सरकार की तरफ से अा रहे अलग-अलग बयान को लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई है।

अभी तक ईपीएफ से निकाली गयी रकम पर कोई टैक्स नहीं लगता है। लेकिन, सरकार ने बजट में कहा है कि पीएफ के 40 फीसदी हिस्से पर टैक्स नहीं लगेगा, लेकिन बचे हुए 60 फीसदी निकालने पर टैक्स भरना होगा। सरकार

पढ़ें-EPF पर टैक्स वापसी संभव, PM मोदी ने अरुण जेटली को दी सलाह

Edited By: Atul Gupta