नई‍ दिल्ली, जेएनएन। देशभर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लेकर जारी सियासत अभी थमा नहीं कि कांग्रेस ने एनआरयू (NRU) की मांग कर डाली। राष्ट्रीय कांग्रेस की युवा शाखा युथ कांग्रेस ने गुरुवार को सरकार से बेरोजगारों के लिए नेशनल रजिस्टर ऑफ अनइम्पलाइड (NRU) की मांग की। उन्होंने लोगों से 8151994411 नंबर पर मिस्ड कॉल करने को कहा है।

आर्थिक मंदी के साथ बढ़ती बेकारी पर सरकार की घेरेबंदी के लिए पार्टी ने अपनी युवा इकाई को देश में एनआरयू लाने की आवाज बुलंद करने का जिम्मा सौंपा है। पार्टी मुख्यालय में गुरूवार को युवा कांग्रेस की ओर से राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर लाने की मांग का अभियान शुरू किया गया। युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास वी और प्रवक्ता अंबरीश पांडेय ने प्रभारी सचिव कृष्णा अलावरु ने एनआरयू की मांग के सहारे सरकार की घेरेबंदी का यह अभियान लांच किया।

एनआरयू अभियान के लिए युवा कांग्रेस ने एक टोल-फ्री मोबाइल नंबर भी जारी किया जिस पर शिक्षित बेरोजगार युवाओं, कुशल और अकुशल कामगारों से मिस कॉल करने को कहा जाएगा। अंबरीश पांडेय ने कहा कि मिस कॉल में आने वाले सभी बेरोजगार लोगों की सूची सरकार को सौंपी जाएगी और प्रधानमंत्री से एनआरयू जल्द शुरू करने का अनुरोध किया जाएगा। राष्ट्रीय बेरोजगारी रजिस्टर लाने का यह अभियान पूरे बजट सत्र की समाप्ति तक चलाया जाएगा। युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास ने सरकारी आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि आर्थिक मंदी और बेकारी के कारण रोजाना 36 युवा आत्महत्या कर रहे हैं। मगर सरकार जीडीपी पर ध्यान देने की बजाय सीएए-एनआरसी पर भटकाने का प्रयास कर रही है और इसीलिए युवा आवाज उठा रहे कि हमें एनआरसी नहीं बल्कि एनआरयू चाहिए।

पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अलावरू ने कहा कि बेरोजगारी 45 साल के रिकार्ड स्तर पर है तो आर्थिक हालत आइसीयू में जाने के करीब हैं और यह मोदी मेड आपदा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी आर्थिक मुद्दों और बेरोजगारी पर सरकार की घेरेबंदी के लिए देशव्यापी अभियान 28 जनवरी को जयपुर से शुरू करेंगे। 30 जनवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड़ में भी इसी मुद्दे पर उनकी सभा व संवाद का कार्यक्रम प्रस्तावित है और मार्च महीने तक पूरे देश में राहुल इस अभियान के तहत घूम-घूम कर मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा करेंगे।

यूथ कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा कि आज इतना बुरा समय आ गया है कि पकौड़ा बेचने वाला भी पैसे नहीं कमा पा रहा है। बेरोजगारी के खिलाफ इस मुहिम में जुड़े, 8151994411 पर मिसकॉल दे और सरकार से बेरोजगारी रजिस्टर (एनआरयू) की मांग करे।

कांग्रेस ने भी ट्वीट कर कहा कि सीएमआईई के आंकड़ों को देखें तो एक बात समझ आती है कि 'जितनी बड़ी डिग्री, उतनी ज्यादा बेरोजगारी' और भाजपा यही चाहती है। शिक्षा पर हमले के जरिए सवाल खत्म होंगे और जब सवाल पूछने वाला कोई नहीं रहेगा, तो भाजपा अपनी नाकामियों का जश्न मना पाएगी।

एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस ने कहा, युवा नौकरी मांग रहा है और मोदी जुमलों की टोकरी दे रहे हैं। गायब होती नौकरियों पर बोलने का साहस मोदी में नहीं है। बेरोजगारों की आंसुओं से भरी आंखों में झांकने की हिम्मत मोदी में नहीं है। मगर, देश का युवा अपने अधिकार की मांग करेगा और सत्ता से सवाल भी पूछेगा।

इस बीच ट्विटर पर #NaukariKiBaat की बात भी ट्रेंड करने लगा। कुछ लोगों ने युवा कांग्रेस के इस कैंपेन की सराहना की तो कुछ ने इसकी आलोचना भी की।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस