जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। पीएनबी बैंक घोटाले के आरोपी भगोड़े नीरव मोदी का पासपोर्ट रद होने के बाद भी तीन देशों की यात्रा करने को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर तीखे तीर दागे हैं। पार्टी ने सरकार पर सुस्ती का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार देश को बताए कि नीरव मोदी पासपोर्ट रद्द किए जाने के बाद भी भारतीय पासपोर्ट पर कैसे घूमता रहा।

कांग्रेस की नियमित ब्रीफिंग में पार्टी प्रवक्ता राजीव शुक्ल ने कहा कि नीरव मोदी उर्फ छोटे मोदी का पासपोर्ट 24 फरवरी को रद करने का फैसला हुआ, लेकिन वह पूरे मार्च महीने में इसी पासपोर्ट पर तीन देशों की यात्रा करने में सफल रहा।

शुक्ल ने कहा कि नीरव ने इसी दौरान हांगकांग की यात्रा भी कि जबकि उसी वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति से रूबरू हो रहे थे। मगर सरकार बैंक घोटाले के इस भगोड़े के मामले में सुस्ती बरत रही है। उन्होंने कहा कि देश की बैंकिंग व्यवस्था को गहरे रुख से नुकसान पहुंचाने वाले शख्स को लेकर सरकार की ढिलाई से साफ है कि इसमें मिलीभगत है।

शुक्ल ने कहा कि विदेश मंत्रालय ने नीरव का पासपोर्ट रद्द करने के बाद इसकी सूचना देने की जहमत नहीं उठाई और वह तीन देशों की यात्रा करने में कामयाब रहा। इतना ही नहीं इसी दरम्यान उसने अपने निदेशकों को काहिरा भेजने में भी सफल रहा। इसलिए विदेश मंत्रालय बताए कि यह नरमी क्यों बरती गई।

कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार की ढिलाई का ही नतीजा है कि बैंकिग व्यवस्था से लोगों का भरोसा खत्म हो रहा है। रिजर्व बैंक की ताजा रिपोर्ट में बचत दर घटने की बात से साफ है कि लोग अब बैंकों में पैसा जमा करने से हिचक रहे हैं। शुक्ल ने कहा कि बैंकों की बचत दर घटना चिंता की बात है क्योंकि इससे पूरी अर्थव्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ेगा।

 

By Bhupendra Singh