नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत जबर्दस्त शीतलहर की चपेट में है। कश्मीर में ताजा बर्फबारी ने गलन में इजाफा कर दिया है। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान माइनस 6.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। पहलगाम व गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान माइनस 7.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। लेह क्षेत्र में न्यूनतम तापमान माइनस 17.2, जबकि करगिल में न्यूनतम तापमान 13.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

श्रीनगर में तापमान जमाव बिंदु से नीचे चले जाने के कारण डल झील समेत तमाम जलस्त्रोत जम रहे हैं। कोहरे का सबसे बुरा प्रभाव रेल और हवाई यातायात पर पड़ा है। राजस्थान और पंजाब के कुछ इलाकों में पारा शून्य डिग्री तक रिकॉर्ड किया गया। उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों मे कड़ाके की सर्दी से 41 लोगों की मौत हो गई, वहीं कोहरे के कारण हादसों में तीन की जान चली गई। मौसम विभाग की मानें तो शुक्रवार तक शीतलहर और गलन से राहत मिलने के आसार नहीं है। 

कांप रही दिल्ली

दिल्ली में बर्फीली हवा ने सुबह शाम लोगों को दांत किटकिटाने पर मजबूर कर दिया है। मंगलवार को न्यूनतम तापमान महज 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इससे पहले 6 जनवरी को भी तापमान इसी स्तर पर पहुंच गया था। धूप निकलने की वजह से ठंड से कुछ राहत तो मिल रही है, लेकिन धूप में भी बर्फीली हवा पीछा नहीं छोड़ रही है। इससे पूर्व 2013 में 9 जनवरी को न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम 15 डिग्री सेल्सियस रहा था।

रेगिस्तान में छूट रही कंपकंपी

राजस्थान के कई इलाके कड़ाके की सर्दी की चपेट में है। भीलवाड़ा, अलवर, चुरु, सीकर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और पिलानी जबर्दस्त ठंड की चपेट में है। 0.3 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ अलवर राज्य का सबसे सर्द जिला रहा। सीकर में 1.5, राज्य के दोनों हिल स्टेशन माउंट आबू और चुरु में न्यूनतम तापमान दो-दो डिग्री सेल्सियस रहा। श्रीगंगानगर का न्यूनतम तापमान 2.2 रहा। उपरोक्त जिले कड़ाके की सर्दी के साथ घने कोहरे का भी सामना कर रहे हैं।

पंजाब और हरियाणा बेहाल

हरियाणा का नारनौल न्यूनतम तापमान 0.2 डिग्री के साथ राज्य का सबसे सर्द इलाका रहा। पंजाब के आदमपुर में 0.7 न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। यही हाल पंजाब और हरियाणा के अन्य जिलों का है। अमृतसर न्यूनतम तापमान 1.2 के साथ ठिठुरता रहा। चंडीगढ़ का न्यूनतम तापमान 3.4 रिकार्ड किया गया।

झारखंड में ठंडी हवाओं ने किया बेहाल

मंगलवार को रांची के तापमान में वृद्धि दर्ज की गई, हालांकि ठंडी हवाओं के चलने से लोगों को राहत नहीं मिल सकी। वहीं कांके का तापमान लगातार तीसरे दिन भी एक डिग्री के आसपास रहा। बंगाल में भी कोहरे ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। सबसे ज्यादा असर लंबी दूरी की ट्रेनों पर पड़ा है।

उत्तराखंड के हल्द्वानी में ठंड से एक की मौत हो गई। बीते दस दिन में कुमाऊं मंडल में ठंड से यह सातवीं मौत है। हालांकि गढ़वाल मंडल में ठंड से किसी मौत की सूचना नहीं है। पहाड़ों में पाला तो मैदान में कोहरा लोगों की मुश्किलें बढ़ा रहा है। अल्मोड़ा और मसूरी का न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे है। वहीं हिमाचल में भी राहत के कोई आसार नहीं है। राज्य में पानी के पाइप जमने से लोगों के सामने पानी का संकट पैदा हो गया है।

यह भी पढ़ें: बर्दाश्त के बाहर हुई ठंड, दिल्ली-एनसीआर में कोहरे से गाड़ियां रेंगने को मजबूर

Posted By: Manish Negi