नई दिल्ली (पीटीआई)। कोयला घोटाला मामले में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा समेत चार अन्य को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया है। मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता,  झारखंड के पूर्व मुख्य सचिव अशोक कुमार बसु और एक अन्य को घोटाले में संलिप्त पाते हुए अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी(आपराधिक साजिश), 420 (धोखाधड़ी), 409 (सरकारी कर्मियों द्वारा आपराधिक विश्वासघात) और भ्रष्टाचार की रोकथाम अधिनियम के प्रावधानों के तहत दर्ज मामले में दोषी पाया है।

कोयला घोटाले मामले की सुनवाई में कब-कब क्या हुआ?

- दिसंबर, 2014: सीबीआई ने कोड़ा और अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की।


- 21 जनवरी, 2015: अदालत ने मधु कोड़ा और अन्य आरोपियों को नोटिस भेजा।


- 18 फरवरी: अदालत के सामने पेश हुए अभियुक्त को राहत देते हुए कोर्ट ने जमानत दी।


- 14 जुलाई, 2015: कोड़ा और अन्य के खिलाफ आरोप तय करके लिए अदालत का आदेश


- 31 जुलाई: अदालत ने आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए।


- 11 जुलाई, 2017: अदालत ने कोयला घोटाला की सुनवाई समाप्त की।


- 5 दिसंबर: अदालत ने फैसले को सुरक्षित रखा।


- 13 दिसंबर: विशेष अदालत ने मधु कोड़ा, एचसी गुप्ता और अन्य को भ्रष्टाचार, आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी के तहत दर्ज मामले में दोषी करार दिया।

यह भी पढ़ें: कोयला घोटाले मामले में मधु कोड़ा दोषी करार, सजा का एलान कल

 

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस