नईदुनिया, भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक आते देख मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सभी को खुश करने में जुटे हैं। इसी कड़ी में पुजारियों की भी लॉटरी खुलने वाली है। दरअसल, शिवराज सरकार जल्द ही मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त कर सकती है।

पिछले दस साल से मध्य प्रदेश सरकार इस पसोपेश में है कि मंदिरों की जमीन पुजारियों को दी जाए या फिर कुछ कृषि भूमि छोड़कर नीलाम कर दी जाए या फिर उन्हें ही लीज पर दे दिया जाए। वर्ष 2008में सरकार ने जमीन की नीलामी पर रोक लगाई थी, तब से धर्मस्व विभाग एक-एक साल के लिए अवधि बढ़ाते चला आ रहा है।

साधु-संत सरकार के इस कदम का लगातार विरोध कर रहे थे पर इस बारे में अंतिम फैसला अब तक नहीं हो पाया है। सूत्रों का कहना है कि विधानसभा चुनाव के चलते मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जल्द ही पुजारियों को खुश करने के लिए उनकी पंचायत बुलाकर मंदिरों से सरकारी नियंत्रण पूरी तरह खत्म करने की घोषणा करना चाहते हैं। इस दौरान चौहान कई और भी घोषणाएं कर सकते हैं।

Posted By: Ravindra Pratap Sing