नई दिल्‍ली, एजेंसी। चीन ने बाढ़ राहत कार्यों में मदद के लिए भारत को बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का उपग्रह से प्राप्‍त डेटा मुहैया कराया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधन संगठन (Indian Space Research Organisation, ISRO) ने अंतरराष्ट्रीय आपदा राहत मदद मांगी थी जिसके बाद चीन की ओर से उपग्रह से प्राप्‍त डेटा उपलब्‍ध कराया गया है। भारत में चीन के राजदूत सुन वीदोंग (Chinese Ambassador to India Sun Weidong) ने शुक्रवार को ट्वीट करके यह जानकारी दी।

सुन वीदोंग ने बताया कि इसरो ने अंतरराष्ट्रीय आपदा राहत सहयोग मांगा था जिसके बाद उपग्रह से भेजा डेटा दिया गया। अंतरराष्ट्रीय आपदा राहत सहयोग के लिए इसरो के अनुरोध के बाद चीन ने भारत को डेटा मुहैया कराया है। चीन के सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने बताया कि भारत ने बीते 17 जुलाई को अंतरिक्ष और बड़ी आपदाओं पर अंतरराष्ट्रीय चार्टर के अनुसार मदद मांगी थी।

गौरतलब है कि भारत के पूर्वोत्तर राज्‍यों और बिहार का बड़ा हिस्सा बाढ़ की चपेट में है। नेपाल और बिहार के कई इलाकों में मानसून की बारिश के साथ उत्तर बिहार, कोसी और सीमांचल में बाढ़ ने एक बार फिर से कहर बरपाना शुरू कर दिया है। नए इलाकों में पानी घुसने से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। राहत एवं बचाव के बीच बाढ़ के कारण मरने वालों का आंकड़ा 200 को पार कर गया है।

भारी बारिश से राजस्थान के कई इलाकों में भी बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। बारां, टोंक और सीकर जिलों में बाढ़ के हालात हैं। यहां निचले इलाकों में बसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। प्रशासन ने सरकारी स्कूलों और धर्मशालाओं में लोगों को सुरक्षित रूप से पहुंचाया है। मौसम विभाग ने आगामी 72 घंटों में प्रदेश के अधिकांश जिलों में तेज बारिश की चेतावनी जारी की है।  

असम और बिहार के 31 जिलों में एक करोड़ 17 लाख लोग प्रभावित हैं। असम में बाढ़ से 75 लोगों की मौत हो गई है। भूटान के कुरिछू रिजर्वायर से पानी छोड़े जाने की वजह से असम के बरपेटा, नलबाड़ी, बक्सा, चिरांग, कोकराझार, धुबरी और दक्षिण सल्मारा में बाढ़ का तांडव जारी है। असम स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट ने बताया कि राज्य में 18 जिलों में स्थित 2753 गांवों के 34 लाख से ज्‍यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस