नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। चीन ने पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ) बेस्ड न्यूज एंकर तैयार किया है। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने इसके लिए चीन की सर्च इंजन कंपनी सोगू के साथ साझेदारी की है। यह कोई रोबोट नहीं है, बल्कि इसे वर्चुअल न्यूज एंकर कहा जा सकता है।

 रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह एआइ न्यूज एंकर खबरें पढ़ सकता है और इसकी आवाज पुरुष न्यूज एंकर जैसी है। यह शायद दुनिया का पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड एंकर है। इसमें सजीव प्रसारित वीडियो से सीखने की भी क्षमता है। यह डेली टीवी न्यूज रिपोर्ट के पैसे बचाएगा, क्योंकि यह 24 घंटों तक लगातार काम कर सकता है। खास बात यह है कि इसमें ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने की भी क्षमता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को इस्तेमाल करते हुए इसमें तस्वीर और इंसानों की आवाज को मिलाकर बिल्कुल असली न्यूज एंकर की तरह एक्सप्रेशन भी दिए गए हैं। इसके लिप मूवमेंट के लिए मशीन लर्निंग प्रोग्राम का इस्तेमाल किया गया है।

हालांकि, ध्यान से देखने पर लिप मूवमेंट थोड़े नकली लगते हैं। यह इंग्लिश और मैंडेरिन भाषा में न्यूज पढ़ सकता है। मालूम हो कि सिन्हुआ न्यूज एजेंसी इंटरनेट और मोबाइल प्लेटफॉर्म पर है और यह दो भाषाओं में है। यह एंकर टीवी वेब पेज के लिए काम करेगा।

न्यूज एजेंसी का कहना है कि एआइ बेस्ड न्यूज एंकर्स का इस्तेमाल खास तौर पर ब्रेकिंग न्यूज समय पर देने के लिए किया जा सकता है। 'सिन्हुआ' ने पूर्वी चीन के झेजियांग प्रांत में जारी व‌र्ल्ड इंटरनेटर कांफ्रेंस में एआइ एंकर को लांच करते हुए कहा, 'यह ग्लोबल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिंथेसिस में क्रांति की तरह है।

वहीं, यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड के माइकल वूलरिज ने कहा है कि यह न्यूज प्रेजेंटर असली दिखने की कोशिश करता है, लेकिन ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसी न्यूज कुछ मिनट से ज्यादा नहीं देख सकते, क्योंकि ये काफी सपाट हैं और इनमें कोई विविधता नहीं है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh