जेएनएन, कठुआ। रसाना (कठुआ) मामले की सीबीआइ जांच की मांग को लेकर जम्मू कश्मीर के पूर्व वन मंत्री चौधरी लाल सिंह ने रविवार को दियालाचक से बिलावर तक जनसमर्थन जुटाने के लिए रैली निकाली। रैली कर लाल सिंह ने कहा कि उनकी मांग है कि रसाना मामले में न्याय मिले। यह तभी संभव है जब पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होगी। मामले की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी से करवाई जाए, लेकिन मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती इससे डर रही हैं। यही कारण है कि मामले की जांच कश्मीर की क्राइम ब्रांच से करवाई गई, जिस पर लोगों ने संदेह जताते हुए न्याय नहीं मिलने पर आमरण अनशन शुरू कर दिया।

-कठुआ मामले की सीबीआइ जांच की मांग को लेकर पूर्व मंत्री ने निकाली रैली

-कहा, प्रधानमंत्री की शान को कोई दाग ना लगे, इसलिए मंत्री की कुर्सी छोड़ दी

लाल सिंह ने कहा कि डेढ़ महीना पहले भी वह भाजपा हाईकमान के कहने पर रसाना में अन्य मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा के साथ गए थे, लेकिन दिल्ली में बैठा मीडिया ऐसा दिखा रहा है कि जम्मू का डोगरा दुष्कर्मी है। इससे देश दुनिया में जम्मू के लोगों की छवि खराब हो रही है। पीडि़त बच्ची को न्याय मिलना चाहिए। यहां धर्म की बात नहीं होनी चाहिए। वह हमारी बच्ची है, उसके असली हत्यारों को सजा मिलनी चाहिए। लाल सिंह ने कहा कि देश पहले है पार्टी बाद में।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शान को कोई दाग ना लगे, इसलिए उन्होंने मंत्री की कुर्सी छोड़ दी। यह सब इसलिए किया ताकि सीबीआइ जांच हो, बच्ची को इंसाफ मिले, लेकिन सीएम सीबीआइ जांच से डर रही हैं। रसाना मामले की सीबीआइ जांच करवाने की मांग को लेकर लोगों को एकजुट करने के लिए लाल सिंह ने रविवार को दियालाचक से रोड शो भी किया। इस दौरान उन्होंने नुक्कड़ सभाओं में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि डोगरों को बदनाम करने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए लोगों को बाहर निकलना होगा। क्राइम ब्रांच ने जिस मंदिर में बच्ची को बंधक बनाकर रखने का चार्जशीट में जिक्र किया है वह कुलदेवी का स्थान है। यहां लोग छोटी बच्चियों की पूजा करते हैं। यहां दुष्कर्म नहीं होते। ये सब आरोप जम्मू के डोगरों को बदनाम करने के लिए लगाए गए हैं।

राज्य सरकार कहे तो केंद्र सीबीआइ जांच करवा सकता है: जितेंद्र

कटड़ा। प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने रविवार को कहा कि अगर जम्मू कश्मीर सरकार कहे तो केंद्र रसाना (कठुआ) कांड की सीबीआइ जांच करवा सकता है। डॉ. जितेंद्र कटड़ा में श्राइन बोर्ड के आध्यात्मिक केंद्र में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन बांटने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

Posted By: Bhupendra Singh