रायपुर, एएनआइ। छत्तीसगढ़ में एक नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बलरामपुर के बसंतपुर इलाके में नाबालिग ने अपने साथ हुई इस हैवानियत के बाद जहर खाने की कोशिश की। 2 दिन तक नाबालिग अस्पताल में भर्ती रही। वहीं आरोपित को पकड़ने की लिए पुलिस जुटी हुई है। बलरामपुर के एएसपी प्रशांत कतालम ने बताया यह घटना 16 अक्टूबर की है। नाबालिग ने घटना के तुरंत बाद जहर खा कर अपने आपको मारने का प्रयास किया। पीड़िता अभी तक अस्पताल में भर्ती है। रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के साथ आरोपी ने झांसा देकर दुष्कर्म किया। पुलिस  ने पीडिता की शिकायत के बाद आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं बलरामपुर की पुलिस ने आरोपित को जल्द ही गिरफ्तार करने के बाद सख्त कार्रवाई करने के आश्वासन दिया है। 

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में पहले भी दुष्कर्म के मामले सामने आ चुके हैं। इस दौरान दर्ज किए मामले इस प्रकार हैं। 2 अक्टूबर को भी वाड्रफनगर चौकी में नाबालिग केसाथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था और तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही कोंडागांव से युवती को ट्रक में लिफ्ट देकर आरोपियों ने चलते ट्रक में रायपुर आने तक कई बार सामूहिक दुष्कर्म किया था। हालांकि दोनों मामलों में आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

बता दें कि कुछ दिन पहले भी छत्तीसगढ़ के बलरामपुर दुष्कर्म की खबर  सामने आई थी। यहां पर 14 वर्षीय लड़की के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था, लेकिन बवाल तब हुआ जब भूपेश बघेल सरकार में श्रम मंत्री शिव कुमार डहरिया ने इस घटना को हाथरस दुष्कर्म मामले से तुलना करते हुए छोटी घटना बता दिया था। इस मामले पर मंत्री ने अपना बयान बदल दिया था। 

उन्होंने कहा कि दुष्कर्म घटना कोई छोटी घटना नहीं है। उन्होंने अपनी सफाई पेश करते हुए कहा कि मैंने दुष्कर्म घटना को कोई छोटी घटना नहीं कहा। दुष्कर्म हमेशा बड़ी घटनाएं होती हैं। मैंने सिर्फ दुष्कर्म मामलों पर अपने विचार प्रकट किए थे। मेरे विचार दुष्कर्म पर नहीं था।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस