राजनांदगांव, जेएनएन। छत्तीसगढ़ में पुलिस और सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान का असर देखने को मिल रहा है। इस अभियान से प्रभावित होकर राजनांदगांव क्षेत्र में सक्रिय एक हार्डकोर नक्सली ने आत्मसमर्पण किया है। नक्सली पर पांच लाख रुपये का इनाम था। नक्सली राजेश तोप्पा उर्फ अजीत ने सोमवार को राजनांदगांव पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

पुलिस ने बताया कि आत्मसमर्पित नक्सली मलाजखंड एरिया कमेटी का सक्रिय सदस्य था। दुर्ग रेंज के आईजी हिमांशु गुप्ता द्वारा आत्मसमर्पित नक्सली को पुनर्वास नीति के तहत 10 हजार स्र्पये प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई है। आत्मसमर्पित नक्सली पुलिस पार्टी पर एंबूश लगाकर हमला करने सहित कई वारदातों शामिल था।

बता दें कि इससे पहले जनजागरूकता अभियानों से प्रभावित होकर सक्रिय नक्सली प्लाटून कमांडर ने आत्मसमर्पण किया था। इसपर आठ लाख रुपये का इनाम घोषित था। यह नक्सली लीडर क्षेत्र में होने वाली नक्सल गतिविधियों का मास्टर माइंड था।

उप-चुनाव से ठीक पहले दो इनामी समेत छह नक्सली ढेर

हाल ही में छत्तीसगढ़ विधानसभा उपचुनाव में दहशत फैलाने के लिए सक्रिय नक्सलियों को मुंह की खानी पड़ी। किरंदुल थाना क्षेत्र के कुटरेम और समलवार के बीच जंगल में हुई मुठभेड़ में पुलिस और डीआरजी की संयुक्त फोर्स ने एनआइए की सूची में 36वें और 40वें स्थान पर शामिल दो हार्ड कोर नक्सलियों को मार गिराया था। दोनों पांच-पांच लाख रुपये के इनामी हैं। इसके अलावा विधायक भीमा मंडावी की हत्या में भी शामिल थे।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप