नई दिल्ली, एजेंसी। भारत के बहादुर शासकों में से एक रहे छत्रपति शिवाजी महाराज की आज जयंती  है। छत्रपति शिवाजी को बुद्धिमान, बहादुर और एक महान राजा के रूप में याद किया जाता है। शिवाजी की जयंती के मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी उन्हें याद करते हुए ट्वीट किया है।

  

शाह ने लिखा 'हिन्दवी स्वराज्य के संस्थापक व साहस, शौर्य और पराक्रम के पर्याय छत्रपति शिवाजी महाराज न सिर्फ एक आदर्श शासनकर्ता थे बल्कि भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाले आदर्श पुरुष भी थे। मातृभूमि के लिए उनकी निष्ठा, समर्पण और बलिदान हमें सदैव प्रेरित करेगा। शिव जयंती पर उन्हें नमन।'

पीएम मोदी ने भी किया याद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी छत्रपति शिवाजी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनका जीवन लाखों लोगों को प्रेरणा देता है। मोदी ने मराठी और अंग्रेजी में ट्वीट करते हुए लिखा भारत के महानतम सपूतों में से एक, उनकी जयंती पर छत्रपति शिवाजी महाराज के साहस, करुणा और सुशासन का प्रतीक। प्रधानमंत्री ने कहा कि शिवाजी का जीवन लाखों लोगों को प्रेरित करता है। 

शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी 1630 में शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। शिवाजी का पूरा नाम शिवाजी भोंसले था। वह एक मराठा परिवार में पैदा हुए थे। कुछ लोगों का कहना है कि उनका जन्म 1627 में हुआ था। उनके पिता का नाम शाहजी और माता का नाम जीजाबाई था। माता जीजाबाई धार्मिक स्वभाव वाली थी, इसके बाद भी वो वीरंगना थीं।

वर्ष  1656-57 में शिवाजी महाराज की मुगलों के साथ पहली मुठभेड़ हुई थी। बीजापुर के सुल्तान आदिलशाह की मृत्यु के बाद वहां अराजकता का माहौल पैदा हो गया था। इसी का फायदा उठाते हुए मुगल बादशाह औरंगजेब ने बीजापुर पर आक्रमण कर दिया था। वहीं दूसरी तरफ शिवाजी ने भी जुन्नार नगर पर आक्रमण करके मुगलों की सारी संपत्ति और 200 घोड़ों पर कब्जा कर लिया था। इसी वजब से औरंगजेब शिवाजी से नाराज हो गए थे। 

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस