नई दिल्‍ली, प्रेट्र। च्युइंग गम खाने वाले लोग सचेत हो जाएं। एक अध्ययन में आगाह किया गया है कि च्युइंग गम जैसे खाद्य पदार्थो में सामान्य तौर पर इस्तेमाल होने वाले एक एडिटिव से आंत को नुकसान पहुंच सकता है।

ऑस्ट्रेलिया की सिडनी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, ई-171 (टाइटेनियम डाइऑक्साइड नैनोपार्टिकल्स) नामक फूड एडिटिव के सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव पर गौर किया गया। खाद्य पदार्थो और कुछ दवाओं में ह्वाइटनिंग एजेंट के तौर पर इस फूड एडिटिव का उच्च मात्र में उपयोग किया जाता है। च्युइंग गम और म्योनीज समेत 900 से ज्यादा खाद्य पदार्थो में ई-171 पाया गया है।

च्‍युइंग गम खाने का शरीर के कई अंगों पर बुरा प्रभाव होता है। आइये जानते हैं च्‍युइंग चबाने का बुरा प्रभाव -

1. जंक फूड खाने पर जोर - एक रिसर्च से यह पता चला कि खास तौर पर मिंट वाली च्‍युइंग गम चबाने से आप फल और सब्जियों जैसे हेल्‍दी फूड से दूर रहते हैं। सिर्फ यही नहीं बल्कि आप जंक फूड खाने के लिए मजबूर करती है।

2.जोड़ों के दर्द का कारण बनती है - यह मुंह की मांसपेशि‍यों का ज्‍यादा इस्‍तेमाल भी नुकसानदायक है। लगातार च्‍युइंग चबाने से एक डि‍सॉर्डर होता है। इसमें जबड़े और खोपड़ी को जोड़ने वाली मांसपेशियों में तेज दर्द होता है।

3.गैस की परेशानी-च्‍युइंग गम ज्‍यादा चबाने से हवा पैदा होती है। जिससे पेट में सूजन और दर्द हो सकता है। यह अपच और सीने में जलन का कारण भी बन सकती है। यह च्‍युइंग गम चबने का बुरा असर है।

4. सिरदर्द और एलर्जी- सि‍र दर्द और एलर्जी भी च्‍युइंग गम भी हानिकारक प्रभाव है। ज्‍यादा च्‍युइंग गम चबाने से सिरदर्द और एलर्जी हो सकती है। इसका कारण यह है कि च्‍युइंग गम में प्रिजरवेटिव और आर्टिफिशियल शुगर मौजूद होती है। जो जहरीली, एलर्जी और सिरदर्द पैदा कर सकती है।

5. दांतों में खराबी- इससे दांत भी खराब हो सकते हैं। यह सच है कि कभी-कभी च्‍युइंग गम चाबाना मसूड़ों और दांतों के लिए ठीक है। फिर भी इसका ज्‍यादा इस्‍तेमाल दांतों को नुकसान पहुंचा सकता है और आपके दांत गिर सकते हैं। इसका कारण च्‍युइंग गम में मौजूद शुगर कोट दांतों में बैक्‍टरीरिया के जाने का कारण है।

6. डायरिया- च्‍युइंग चबाने से डायरिया भी होने का खतरा होता है। मेथोल और सोरिबटॉल जैसे आर्टिफिशियल स्‍वीटनर्स से आंतों में जलन पैदा होती है। इससे डायरिया होता है और शरीर का तरल पदार्थ निकलने से डीहाइड्राइडेशन भी होता है।

7. जहरीला पारा घुल जाता है:- कुछ लोगों ने अपने दांतों के बीच में कुछ भरवाया होता है जो कि पारे, सि‍ल्‍वर और टीन का मिक्‍चर होता है। ज्‍यादा च्‍युइंग गम चबाने से यह पारा दांतो के बीच से निकल कर पेट में चला जाता है

8. विकास में बाधा पैदा करता है :- एक स्‍टडी में यह पता चला है जो बच्‍चे और टीनजर्स से ज्‍यादा च्‍युइंग गम चबाते हैं। इस कारण नौजवानों के चेहरे का विकास नहीं हो पाता है। इससे उनका चेहरा सामान्‍य बड़ा होता है। क्‍योंकि ज्‍यादा च्‍युइंग गम चबाने से जबउ़े और चेहरे की मांसपेशियां उत्‍तेजित होती हैं। यह भी च्‍युइंग गम का सबसे बड़ा साइड इफेक्‍ट है।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप