चेन्नई, एजेंसी। Chess Olympiad 2022: तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन (Tamil Nadu CM MK Stalin) ने बुधवार को घोषणा की, कि फिडे 44वें शतरंज ओलंपियाड ( FIDE 44th Chess Olympiad 2022) में कांस्य पदक जीतने वाली भारत-बी और भारत-ए महिला टीमों को एक-एक करोड़ रुपये के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय इनडोर खेल आयोजन तमिलनाडु सरकार द्वारा सफलतापूर्वक आयोजित किया गया, जिसकी पूरी दुनिया ने प्रशंसा की।

शतरंज ओलंपियाड की खास बातें;

  • फिडे शतरंज ओलंपियाड चेन्नई के पास मामल्लापुरम में आयोजित किया गया था।
  • यह 28 जुलाई को शुरू हुआ और 9 अगस्त को समाप्त हुआ।
  • भारत 'बी' टीम ने मंगलवार को ओलंपियाड ओपन सेक्शन में कांस्य पदक जीता, जबकि भारत 'ए' महिला पक्ष भी तीसरे स्थान पर रही।
  • मुख्यमंत्री ने एक बयान में दोनों टीमों के पदक जीतने पर खुशी जाहिर की और कहा कि इससे देश का सम्मान बढ़ा है।
  • उन्होंने कहा कि दो विजेता टीमों में से प्रत्येक को तमिलनाडु सरकार द्वारा एक करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया जाएगा।

पीएम मोदी ने 28 जुलाई को किया उद्घाटन

बता दें, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 28 जुलाई को 44वें शतरंज ओलंपियाड का उद्घाटन किया था। उन्होंने इस दौरान अतिथि देवो भव की भारतीय परंपरा का उल्लेख किया और कहा कि खेलों में कोई हारता नहीं है क्योंकि इसमें भावी विजेता होते हैं।

पहली बार भारत में हुआ शतरंज ओलंपियाड का आयोजन

पीएम मोदी ने कहा था, 44वां शतरंज ओलंपियाड कई मायनों में खास है। इसमें कई बातें पहली बार हो रही हैं। उन्होंने कहा कि शतरंज के जन्मस्थान यानी भारत में पहली बार यह टूर्नामेंट हो रहा है। इसके अलावा, यह तीन दशक में पहली बार एशिया मंं हो रहा है। पहली बार इसमें सबसे अधिक देश और टीमें हिस्सा ले रही हैं। पहली बार शतरंज में मशाल रिले हुई है।

इस मौके पर तमिलनाडु के राज्यपाल आर एन रवि और केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद थे।

Edited By: Achyut Kumar