मुंबई। आदर्श सोसाइटी के प्रवर्तक एमएम वाचू ने भी घोटाले का ठीकरा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण के सिर फोड़ा दिया है। उन्होंने बताया कि चह्वाण ने ही सैन्यकर्मियों के लिए बनाई गई सोसाइटी में 40 फीसद आम लोगों को शामिल करने का प्रस्ताव रखा था। वाचू ने घोटाले की जाच कर रहे न्यायिक पैनल को बताया कि जून 2000 में उनकी, सोसाइटी सचिव आरसी ठाकुर और पूर्व विधान परिषद सदस्य कन्हैयालाल गिडवानी की तत्कालीन राजस्व मंत्री चह्वाण के साथ बैठक हुई थी। यह बैठक दक्षिण मुंबई में प्रस्तावित आदर्श सोसाइटी के लिए जमीन को लेकर हुई थी।

वाचू ने कहा कि सरकारी प्रस्ताव, 1999 के मुताबिक हमें परियोजना में 20 फीसद आम लोगों को शामिल करना ही था, लेकिन चह्वाण ने अतिरिक्त 20 फीसद लोगों को शामिल करने का प्रस्ताव रखा। इसके बाद सोसाइटी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख और राजस्व मंत्री चह्वाण को पत्र लिखकर 40 फीसद आम लोगों को शामिल करने पर हामी भर दी। इससे पहले चह्वाण ने कहा था कि आम लोगों को सोसाइटी में शामिल करने को लेकर उनकी किसी से कोई बैठक नहीं हुई थी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस