सौरभ वक्तानिया (मिड डे), मुंबई। स्टार प्लस के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी का शीना बोरा से करीबी रिश्ता था। पीटर फिलहाल सीबीआई की हिरासत में है और उनका बेटा राहुल मुखर्जी उनसे मिलने सीबीआई कार्यालय पहुंचे हैं। राहुल का कहना है कि उसके पिता निर्दोष हैं और शीना मुर्खजी की हत्या में उनकी कोई भूमिका नहीं थी।

दरअसल इस हाईप्रोफाइल हत्याकांड में पीटर की शीना से करीबी के कारण उसकी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी असुरक्षा की भावना से ग्रस्त थीं। उसे लगता था कि वह पीटर और अपने धन-बल को खो देगी। सीबीआइ के सूत्रों के मुताबिक इंद्राणी को यह भी डर था कि शीना उसकी पिछली जिंदगी सारी दुनिया के सामने ला देगी।
सीबीआइ के सूत्रों के अनुसार शीना ने अपनी हत्या से कुछ महीने पहले खुद ही पीटर को बता दिया था कि वह इंद्राणी की बहन नहीं बेटी है। पीटर इस खुलासे से स्तब्ध थे। शीना ने उन्हें इंद्राणी की संजीव खन्ना से हुई शादी और अपने जैविक पिता सिद्धार्थ दास से भी संबंधों को उजागर कर दिया था। वहीं शीना और पीटर के बीच मधुर संबंध थे। इसका पता इंद्राणी को बाद में चला और वह बुरी तरह घबरा गई। उसे लगा कि वह पीटर को खो देगी और उसके हाथ से वित्तीय ताकत भी निकल जाएगी। शीना जो कुछ भी दुनिया से छिपाना चाहती थी वह सब कुछ आज दुनिया के सामने है। इंद्राणी की जिंदगी में शीना एक बड़ी बाधा बन गई थी। इसी के बाद इंद्राणी ने शीना की हत्या करने का मन बनाया और पीटर पर भी शीना से दूरी बनाने का दबाव डाला। इंद्राणी ने बाद में पीटर को अपनी बेटी शीना की हत्या की साजिश में साथ देने के लिए राजी कर लिया। सीबीआइ सूत्रों का कहना है कि शीना हत्याकांड के खुलासे के पहले दिन से ही पीटर लगातार अपने बयान बदलता रहा है।

पढ़ें- शीना बोरा हत्याकांड में पीटर मुखर्जी गिरफ्तार

पढ़ें-शीना बोरा मर्डर केस: मीडिया के बिजनेस में वापस आना चाहती थी इंद्राणी

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Shashi Bhushan Kumar