नई दिल्ली, प्रेट्र। बालीवुड स्टार शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान से जुड़े ड्रग्स मामले की कथित रूप से गलत तरीके से जांच करने के लिए केंद्र सरकार ने एनसीबी के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि कथित रूप से फर्जी जाति प्रमाणपत्र पेश करने के मामले में भी वानखेड़े के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जा रही है।

बताते चलें कि वानखेड़े भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए वित्त मंत्रालय नोडल प्राधिकार है। जिस समय आर्यन से जुड़ा ड्रग्स का मामला सामने आया था, उस समय वानखेड़े मुंबई में एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक थे। उन्होंने क्रूज पर छापेमारी के बाद शुरुआती जांच का नेतृत्व किया था। इस मामले में विवाद उत्पन्न होने के बाद उनको जांच से हटा दिया गया। बाद में उनको मूल कैडर भेज दिया गया। इस समय वानखेड़े राजस्व खुफिया निदेशालय, मुंबई में तैनात हैं।

महाराष्ट्र में बढ़ गया था सियासी तापमान

आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र में लंबे समय तक राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला था। राकांपा प्रवक्ता एवं महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने केंद्र सरकार एवं राज्य के भाजपा नेताओं सहित एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। बदले में नवाब मलिक को भी गंभीर आरोपों का सामना करना पड़ा था। नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़नवीस द्वारा नवाब मलिक पर भगोड़े माफिया सरगना दाऊद इब्राहिम से संबंध का आरोप लगाया गया था। इन दिनों नवाब मलिक उन्हीं आरोपों के सिलसिले में जेल में हैं। शुक्रवार को आर्यन खान को क्लीनचिट मिलने के बाद ट्विटर हैंडल आफिस आफ नवाब मलिक की ओर से पूछा गया कि आर्यन और पांच अन्य को क्लीनचिट मिल गई है। क्या एनसीबी समीर वानखेड़े, उनकी टीम और प्राइवेट आर्मी के खिलाफ कार्रवाई करेगी या इन अपराधियों का बचाव करेगी? नवाब मलिक की बेटी सना मलिक शेख ने भी ट्वीट कर कहा है कि फर्जीवाड़े का पर्दाफाश! सत्य की हमेशा जीत होती है।

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan