नई दिल्ली, एएनआइ। वाट्सएप के नए पॉलिसी अपडेट से प्राइवेसी पर खतरे को देखते हुए सरकार मैसेजिंग एप के ग्लोबल सीईओ विल कैथचार्ट को पत्र लिखा है। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) ने फेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेजिंग प्लेटफॉर्म की गोपनीयता नीति में प्रस्तावित बदलावों को वापस लेने की बात कही है। सूत्रों के मुताबिक कैथचार्ट को गोपनीयता, डेटा हस्तांतरण और साझा नीतियों के बारे में सरकार के सवालों के जवाब देने के लिए कहा गया है।

उधर, संसदीय समिति ने 21 जनवरी को इंटरनेट मीडिया की दिग्गज कंपनियों फेसबुक और ट्विटर के अधिकारियों को तलब किया है। सूचना तकनीक संबंधी स्थायी संसदीय समिति, फेसबुक और ट्विटर के अधिकारियों के साथ 21 जनवरी को होने वाली बैठक में अन्य मुद्दों के साथ वाट्सएप की प्राइवेसी पालिसी में किए जा रहे बदलावों को लेकर भी चर्चा करेगी।

बता दें कि वाट्सएप ने हाल ही में यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजकर अपनी पॉलिसी अपडेट करने की जानकारी दी थी। इसमें कहा गया था कि वाट्सएप का प्रयोग करते रहने के लिए आठ फरवरी तक नई पॉलिसी को स्वीकृति देनी होगी। इस नोटिफिकेशन के सामने आने के बाद से ही इंटरनेट मीडिया में यह चर्चा उठ गई कि वाट्सएप की नई पॉलिसी से यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है। नई नीति के तहत वाट्सएप यूजर्स के डाटा को फेसबुक के अन्य एप व प्रोडक्ट के साथ साझा करेगा। वाट्सएप लगातार इसका खंडन कर रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप