बेंगलुरू(जेएनएन)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज कैबिनेट की विशेष बैठक बुलाई गई। बैठक में दिवंगत नेता अनंत कुमार को श्रद्धांजलि दी गई। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार रात बनारस से सीधे बेंगलुरु पहुंच कर केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार को श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी वहां से बसावनागुडी स्थित अनंत कुमार के आवास गए जहां कुमार के पार्थिव शरीर को रखा गया है।

पीएम मोदी ने यहां अनंत कुमार के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि दी और शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की। पीएम मोदी अपने मंत्री अनंत कुमार के पार्थिव शरीर के पास हाथ जोड़े कुछ देर के लिए खड़े रहे। पीएम मोदी ने कुमार की पत्नी तेजस्वनी और उनकी दो पुत्रियों विजेता और ऐश्वर्या को सांत्वना दी। कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला और कर्नाटक भाजपा प्रमुख बी एस येदियुरप्पा भी मौजूद थे।

अनंत कुमार के पार्थिव शरीर को आज बेंगलुरु के नेशनल कॉलेज ग्राउंड पर रखा जाएगा, जहां पर लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे पाएंगे। उनके निधन पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पूरे देश में राष्ट्रध्वज आधा झुकाने का निर्देश दिया है। इसी के मुताबिक राष्ट्रीय शोक भी मनाया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार कैंसर से पीड़ित थे और रविवार देर रात करीब डेढ़ बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। 59 साल के अनंत कुमार का पहले लंदन और न्यूयॉर्क में इलाज चला और 20 अक्टूबर को ही उन्हें बेंगलुरू लाकर एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती किया गया था। भाजपा की कर्नाटक इकाई ने कहा है कि अनंत कुमार का अंतिम संस्कार मंगलवार दोपहर किया जाएगा। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा कि केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के निधन के बारे में सुनकर मुझे दुख हुआ। उनका जाना देश और खासकर कर्नाटक के लोगों के लिए बड़ा झटका है। उनके परिवार, सहकर्मी और उनसे जुड़े लोगों के साथ मेरी संवेदना है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने लिखा कि मेरे सहकर्मी और दोस्त अनंत कुमार के निधन के बारे में सुनकर मुझे काफी दुख हुआ। वह शानदार नेता थे, जिन्होंने युवा के रूप में राजनीति में कदम रखा और अब तक अत्यंत परिश्रम और करुणा के साथ लोगों की सेवा में लगे थे। उन्हें हमेशा उनके अच्छे कामों के लिए याद किया जाएगा।' मोदी ने बताया कि उन्होंने अनंत कुमार की पत्नी तेजस्विनी से भी बात की है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अनंत कुमार के निधन पर दुख जताते हुए ट्विटर पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। राहुल ने लिखा कि आज सुबह केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार जी के बेंगलुरू में निधन के बारे में जानकर दुख हुआ है। उनके परिवार और मित्रों को मेरी संवेदनाएं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे। ओम शांति।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लिखा कि अपने सीनियर साथी और दोस्त अनंत कुमार के ऐसे जाने से हैरान और दुखी हूं। लोगों के कल्याण के लिए उनका जुनून और लगन सराहनीय थी। उनके परिवार के साथ मेरी संवेदना है।गृहमंत्री ने लिखा कि मेरे मस्तिष्क में अनंत जी के साथ सरकार और संगठन में साथ काम करने की सभी यादें घूम रही हैं। ये यादें हमेशा मेरे साथ रहेंगी। उनका जाना भाजपा के लिए बड़ा नुकसान है। यह मेरे लिए भी व्यक्तिगत तौर पर बड़ी क्षति है।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अंनत कुमार के बारे में सुनकर काफी दुख हुआ। उन्होंने लंबा वक्त बीजेपी को दिया। बेंगलुरु उनके दिल और दिमाग में बसता था। भगवान इस क्षति को सहने की शक्ति उनके परिवार को दे। 

 

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस