जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। सरकारी कर्मचारियों को महंगाई से राहत देते हुए महंगाई भत्ता मौजूदा चार प्रतिशत से बढ़ाकर पांच प्रतिशत कर दिया है। केन्द्र के इस कदम से एक करोड़ से अधिक सरकारी कर्मचारियों और पेंशनरों को लाभ होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया। अब तक महंगाई भत्ता चार प्रतिशत था। बढ़ी हुई दर एक जुलाई से प्रभावी होगी। महंगाई भत्ता बढ़ने से चालू वित्त वर्ष में सरकार के खजाने पर आठ महीने में करीब 2045 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। हालांकि पूरे वित्त वर्ष में इस कदम से 3068 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ खजाने पर पड़ेगा। इससे 49.26 लाख सरकारी कर्मचारियों और 61.17 लाख पेंशनरों को राहत मिलेगी।

कैबिनेट ने टैक्स फ्री ग्रेच्युटी की सीमा बढ़ाकर 20 लाख रुपये करने के लिए पेमेंट ऑफ ग्रेच्युटी संशोधन विधेयक के मसौदे को भी मंजूरी दी। सरकार इस विधेयक को संसद में पेश करेगी। मौजूदा कानून के तहत ग्रेच्युटी की सीमा 10 लाख रुपये है।

यह भी पढ़ें: MP सरकार ने भ्रष्ट IAS अफसर शशि कर्नावत को किया बर्खास्त

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस