जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। नवाचार से जुड़ी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय अब एक नवाचार प्रकोष्ठ खोलेगा। जिसके प्रमुख एक वैज्ञानिक होंगे, जबकि सदस्य के रूप में मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी और देश के युवा प्रोफेशनल को शामिल किया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय पहले से ही नवाचार को बढ़ावा देने के लिए हैकथान जैसे आयोजन कराता रहा है।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने बुधवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में इसके निर्देश दिए है। मंत्रालय ने यह फैसला उस समय लिया है, जब वैश्विक नवाचार के क्षेत्र में भारत की रैकिंग दुनिया के 127 देशों में 66 से चढ़कर 60 वें पायदान पर पहुंच गई है।

मंत्रालय का दावा है कि यह सुधार अलग-अलग मंत्रालयों की ओर से नवाचार को लेकर उठाए गए कदमों और हैकथान जैसी प्रतिस्पर्धाओं के बाद सामने आया है। इसके साथ ही मंत्रालय की ओर से बनाए गए नवाचार प्रकोष्ठ के गठन की प्रक्रिया भी शुरु हो गई है।

 

By Bhupendra Singh