नई दिल्‍ली, एजेंसियां। भारत ने बृहस्पतिवार को कोविड रोधी टीकाकरण अभियान में 100 करोड़ डोज लगाने का आंकड़ा पार कर लिया। इस महत्‍वपूर्ण उपलब्धि पर पुरातत्व सर्वेक्षण ने देश की 100 स्मारकों को तिरंगे की रोशनी से जगमग किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने राम मनोहर लोहिया अस्पताल का दौरा कर स्वास्थ्यकर्मियों से उनके अनुभव जाना और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। यही नहीं इस मौके केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने एक गीत और एक फिल्म जारी की। इसमें टीकाकरण की शुरुआत के प्रयासों को दिखाया गया है...  

31 फीसद से अधिक को दोनों डोज

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की ओर से हैदराबाद में चारमीनार को तिरंगे की रोशनी से जगमग किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक देश की वयस्क जनसंख्या में 31 फीसद से अधिक लोगों को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है।

नौ राज्यों सभी वयस्कों को लगी पहली डोज

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक देश के नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 18 साल से अधिक की शतप्रतिशत आबादी को कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन की एक खुराक दी जा चुकी है।

75 फीसद से ज्यादा को एक डोज

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक देश की 75 फीसद से ज्यादा वयस्क आबादी को वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है।

इन राज्‍यों में सभी को दी जा चुकी एक खुराक

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक गोवा, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, लक्षद्वीप, सिक्किम, उत्तराखंड और दादरा एवं नगर हवेली में अब तक सभी वयस्क लोगों को टीके की कम से कम एक खुराक लग चुकी है।

टीकाकरण में टॉप पर यूपी

उत्‍तर प्रदेश कोविड रोधी वैक्‍सीन की सबसे ज्यादा खुराक देने वाले शीर्ष पांच प्रदेशों में सबसे ऊपर है। इसके बाद महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा डोज लगाई गई हैं।

अब सभी को दूसरी खुराक देने पर होगा जोर 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया का कहना है कि कोविड रोधी वैक्‍सीन की सौ करोड़ खुराक दिए जाने के बाद अब हम दूसरी खुराक देने के लिए मिशन मोड में काम करेंगे ताकि लोग कोरोना वायरस से सुरक्षित रहें।