कोच्चि, एएनआइ। सीबीआइ ने केरल सरकार की योजना लाइफ मिशन प्रोजेक्ट में घोटाले का मामला दर्ज किया है। इस योजना के तहत जरूरतमंद को घर मुहैया कराया जाना था। भ्रष्टाचार विरोधी इकाई ने विदेशी अंशदान (नियमन) अधिनियम (एफसीआरए) के तहत मामला दर्ज किया है। एफआइआर कोच्चि की एक विशेष कोर्ट को सौंपी गई है। सीबीआइ ने इस मुद्दे में आगे की जांच की जरूरत का उल्लेख किया है। सीबीआइ ने यूनिटेक, सान वेंचर्स के एमडी संतोष ईअपन और अन्य अज्ञात लोगों को मामले में आरोपित किया है।

सीबीआइ ने आरोपितों के खिलाफ एफसीआरए की धारा 35 के साथ उपधारा तीन और भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी (आपराधिक साजिश) के तहत आरोप लगाया है। यह मामला जिस उद्देश्य से विदेशी कोष था, उसे निलंबित करने से संबंधित है। कांग्रेस विधायक अनिल अक्कारा ने सीबीआइ के पास लाइफ मिशन प्रोजेक्ट में जालसाजी का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी। 24 सितंबर को केरल सरकार ने निगरानी जांच का आदेश दिया था।

उल्‍लेखनीय है कि सीबीआई ने यह केस ऐसे समय दर्ज किया है जब केरल सरकार सोना तस्करी मामले में पहले ही घिरी हुई है। बीते दिनों राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के पूर्व प्रधान सचिव एम शिवशंकर से पूछताछ की थी। उनसे यह पूछताछ मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश के साथ बैठाकर की गई थी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच में स्वप्ना सुरेश और शिवशंकर की निकटता जाहिर हो चुकी है। मामले में विशेष एनआइए अदालत स्वप्ना सुरेशा की न्यायिक हिरासत आठ अक्टूबर तक बढा दी है।  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस