नई दिल्‍ली, एएनआइ। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने बुधवार को पीएमओ (प्रधानमंत्री कार्यालय) के नकली अधिकारी बनकर लोगों के साथ धोखाधड़ी के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दायर किया है।

प्रधानमंत्री कार्यालय के सहायक निदेशक पीके इस्‍सार ने इस मामले में एक शिकायत दर्ज की है। अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 419 और आईटी अधिनियम 2000 की धारा 66डी के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पीएमओ ने इस मामले की एफआइआर जारी करते हुए कहा कि लुधियाना सिविल अस्पताल को कुछ ई-मेल प्राप्त हुए थे, जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था। ई-मेल में फर्जी व्‍यक्ति ने उस अस्पताल के एक डॉक्टर के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिए अस्पताल से अनुरोध किया था।

पीएमओ ने स्पष्ट किया है कि यह फर्जीवाड़े का मामला है और कार्यालय द्वारा ऐसी कोई ईमेल आईडी इस्‍तेमाल नहीं की जा रही है। हालांकि यह पहला मामला नहीं है, जब पीएमओ के नाम पर ऐसा किया गया हो। इससे पहले कुछ लोगों ने पिछले साल 11 जुलाई को देश के एक प्रमुख अखबार में योजना का कथित भ्रामक विज्ञापन दिया था, जिसमें प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना के तहत कर्ज की पेशकश की गयी थी।

यह भी पढ़ें: प्रदूषण पर सख्त हुआ PMO, मंत्रालय से कहा- 6 महीने में चाहिए समाधान

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस