नई दिल्ली, एएनआइ। रिया चक्रवती के बयान के बाद सुशांत सिंह सुसाइड मामले में सीबीआइ  जांच की मांग और तेज हो गई है। इस मामले की चर्चा राजनीतिक गलियारों में भी खूब हो रही है। केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने इस पूरे मामले पर कहा कि सीबीआइ को केस ट्रांसफर करने वालों की मांग जायज है। मैंने यह अनुरोध महाराष्ट्र के सीएम से किया है, लेकिन वह इसके पक्ष में नहीं थे। न्याय की दृष्टि से सीबीआइ जांत बेहतर होगी और परिवार भी यही चाहता है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस ने इस मामले में कुछ नहीं किया और सिर्फ लोगों को दिखाने के लिए जांच कर रही थी। मुंबई पुलिस ने एक प्राथमिकी दर्ज नहीं की और ना ही ये बताया कि वो किसकी जांच कर रहे हैं। आरके सिंह ने अंत में कहा कि इस मामले में पटना में एफआइआर दर्ज की गई है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भी निष्पक्ष जांच की मांग की थी

इस बीच सुशांत की मौत के मामले में कई राजनीतिक हस्तियों ने सामने आकर निष्पक्ष जांच की मांग की है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने मुंबई में एक कार्यक्रम में निष्पक्ष जांच की मांगकर करते हुए कहा कि इसी से सच सामने आएगा। एक अन्य केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने सीबीआइ जांच की मांग करते हुए कहा कि इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी ही इंसाफ कर सकती है। इनके अलावा महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस, भाजपा नेता किरीट सोमैया, भूपेंद्र यादव और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी इस मामले की सीबीआइ जांच की मांग की है।

इस मामले में भाजपा की तरफ से सवाल उठाए जाने पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि वह उन लोगों की निंदा करना चाहते हैं मुंबई पुलिस की दक्षता पर सवाल उठा रहे हैं। उद्धव ठाकरे का कहना था कि मुंबई पुलिस असमर्थ नहीं है। अगर किसी के पास कोई सबूत है तो लेकर आ सकता है। हम पूछताछ करेंगे और दोषी को सजा देंगे।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस