कोलकाता। सारधा चिटफंड घोटाले में सीबीआई पूछताछ के लिए तलब किए जा चुके तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सांसद मुकुल रॉय के विधायक पुत्र को भी जांच एजेंसी जल्द बुला सकती है।

सीबीआई को पता चला है कि सारधा प्रमुख सुदीप्त सेन की फरारी के समय मुकुल के पुत्र शुभ्रांशु को "कलम" अखबार के कार्यालय में देखा गया था। इसके अलावा सारधा के मिडलैंड पार्क स्थित कार्यालय में भी शुभ्रांशु का आना-जाना था।

2013 में उत्तर 24 परगना जिले में बने एक निजी शिक्षा संस्थान में भी सारधा का पैसा लगे होने की जानकारी मिली है। इस बाबत जांच एजेंसी शुभ्रांशु से पूछताछ करना चाहती है। सीबीआई सूत्रों के अनुसार, जल्द ही शुभ्रांशु को नोटिस भेजकर तलब किया जाएगा। उनके पिता व पूर्व रेल मंत्री मुकुल रॉय फिलहाल एक हफ्ते की सीबीआई मोहलत पर हैं।

नौ ठिकानों पर सीबीआई छापा


सारधा चिटफंड घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने अब अन्य चिटफंड कंपनियों पर भी शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। शनिवार को विन रियलकॉन कंपनी के कार्यालयों, उसके अधिकारियों के आवासों समेत नौ ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की।

सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि उत्तर 24 परगना जिले के बैरकपुर, खड़दह, सोदपुर और हाबरा में छापेमारी से कई दस्तावेज जब्त किए। जांच एजेंसी ने विन रियलकॉन सहित गैर-सारधा समूह की कई कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

हथियार सहित चिटफंड कंपनी का मालिक गिरफ्तार

चिटफंड घोटाले में शामिल सिलिकान प्राइवेट लिमिटेड के मालिक को सीबीआई ने शनिवार को गिरफ्तार किया है। उसका नाम शिव नारायण दास है। उसे हावड़ा के रामराजातल्ला इलाके से हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया है।

सारधा मामले में पूछताछ के लिए सीबीआई उसे पांच बार तलब कर चुकी है। जांच एजेंसी ने कुछ दिनों पहले उसके घर पर तलाशी भी ली थी। सारधा प्रमुख सुदीप्त सेन ने जब चिटफंड का व्यवसाय शुरू किया था तो शिव नारायण उसका मुख्य सलाहकार था।

पढ़ेंः सीबीआई पर अंकुश के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगी ममता

पढ़ेंः TMC नेता की धमकी, ममता को छुआ तो खुद को खत्म कर लूंगा

Posted By: manoj yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस