नई दिल्ली (आइएएनएस)। क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो के निधन पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने शोक प्रकट किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्यूबा के नेता कास्त्रो को भारत का अच्छा मित्र बताते हुए ट्वीट किया है, ‘फिदेल कास्त्रो के निधन पर क्यूबा सरकार व वहां की जनता के लिए गहरी संवेदनाएं प्रकट करता हूं। उन्होंने कहा कि फिदेल कास्त्रो 20वीं सदी के प्रतिष्ठित व्यक्तित्व में से एक थे। भारत को अपने मित्र के दुनिया से चले जाने का दुख है।उन्होंने कहा कि इस दुख की घड़ी में क्यूबा सरकार और वहां के लोगों के साथ भारत खड़ा है।

राष्ट्रपति ने क्यूबा के क्रांतिकारी नेता, पूर्व राष्ट्रपति और भारत के मित्र फिदेल कास्त्रो के निधन पर हार्दिक संवेदना प्रकट की। कांग्रेस प्रमुख ने कास्त्रो के दुनिया से चले जाने पर दुख जताते हुए कहा कि भारत के लिए उनका सहयोग हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कास्त्रो के निधन से होने वाला नुकसान केवल क्यूबा तक ही सीमित नहीं है।

इंदिरा गांधी को अपनी बड़ी बहन मानने वाले क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति और कम्युनिस्ट क्रांति के नेता रहे फिदेल कास्त्रो का 90 वर्ष की उम्र में निधन हो गया।

600 सेे अधिक बार हुआ था कास्त्रो की हत्या का प्रयास

Posted By: Monika minal