लखनऊ। कुंडा के डीएसपी समेत तीन हत्याओं की जांच कर रही सीबीआइ ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को पूछताछ के लिए कैंप कार्यालय में उपस्थित होने के लिए समन भेजा है। यह समन उस एफआइआर के बाद भेजा गया है जो इस हत्याकांड के मुख्य गवाह दिवाकर त्रिपाठी ने राजा भैया के खिलाफ कराई है।

इसमें कहा गया है कि राजा भैया के गुंडों ने उन्हें धमकी दी और उनके ड्राइवर के साथ मारपीट की। त्रिपाठी ने यह मामला संग्रामगढ़ के थाने में शुक्रवार रात को दर्ज कराया है। इसके बाद ही सीबीआई ने राजा भैया को तलब करने के लिए उनके लखनऊ और कुंडा स्थित निवास पर समन भेजा है। सीबीआई अधिकारियों के मुताबिक वह इस मामले में सामने आए कुछ और सवालों का जवाब जानना चाहते हैं, जिसके लिए राजा भैया को बुलाया गया है।

इससे पहले सीबीआई को इस ट्रिपल मर्डर केस में राजा भैया के खिलाफ कोई सबूत हाथ नहीं लगा है। गौरतलब है कि दिवंगत डीएसपी जिया उल हक की बीवी परवीन ने राजा भैया पर अपने पति की हत्या के लिए षड़यंत्र रचने का आरोप लगाया है। इस मामले की जांच में जुटी सीबीआई इससे पहले कुंडा के नगर पंचायत अध्यक्ष समेत कई अन्य लोगों से भी पूछताछ कर चुकी है। इस मामले में सीबीआई की गुजारिश पर कुंडा के सभी पुलिसकर्मियों का तबादला कर दिया गया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस