तिरुवनंतपुरम (एएनआइ)। केरल में बाढ़ से हालात बदतर होते जा रहे हैं। बाढ़ से आई इस तबाही में अब तक 324 लोगों की मौत हो गई है। इस बीच बेहद चुनौतीपूर्ण स्थितियों में शुक्रवार को कैप्टन पी राजकुमार (शौर्य चक्र) ने सी किंग 42B हेलीकॉप्टर की मदद से केरल में बाढ़ में फंसे 26 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। कैप्टन ने शुक्रवार को 26 लोगों को एयरलिफ्ट कर नया जीवन दिया। इन लोगों को बचाना इतना आसान नहीं था, ये लोग जिस जगह फंसे हुए थे, वहां किसी इंसान का जाना बेहद मुश्किल था। लेकिन कैप्टन कुमार ने हार नहीं मानी और घने पेड़ों के बीच सी किंग 42B चॉपर घर की छत पर ले जाकर इन लोगों को बचाया।

कैप्टन कुमार ने इस ऑपरेशन में 32 लोगों की जान बचाई। अपनी बहादुरी और विषम परिस्थितियों में भी लोगों की जान बचाने के दृढ़ निश्चय को पूरा करते हुए उन्होंने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि सेना किसी भी हद तक जाकर राज्य में लोगों की जान बचा रही है। भारतीय नौसेना ने अपने बयान में कहा कि बेहद ही चुनौतीपूर्ण स्थितियों में कैप्टन पी राजकुमार (शौर्य चक्र) ने सी किंग 42B हेलीकॉप्टर की मदद से केरल में बाढ़ में फंसे 26 लोगों को बाहर निकाला। भारतीय सेना नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF), इंडियन कोस्ट गार्ड और रैपिड ऐक्शन फोर्स के साथ मिलकर राज्य को आपदा से राहत दिलाने में जुटी है।

केरल को 500 करोड़ रुपये की अंतरिम राहत की घोषणा

केरल की भयंकर बारिश और बाढ़ ने अबतक 324 लोगों की जान ले ली है। अकेले गुरुवार को 106 लोगों की मौत हो गई। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। साथ ही, मुख्यमंत्री विजयन के साथ हालातों पर बैठक में चर्चा भी की। उधर, कांग्रेस पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि केरल बाढ़ को बिना देरी किए राष्‍ट्रीय आपदा घोषित किया जाना चाहिए। वहीं, केंद्र ने केरल के लिए तुरंत राहत के तौर पर 500 करोड़ रुपये जारी किए हैं। हालांकि केरल सरकार ने केंद्र से 2000 करोड़ रुपये मांगे थे।

NDRF का बचाव अभियान तेज

इस बीच राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के साथ ही सैनिकों ने फंसे लोगों को बचाने के लिए शुक्रवार सुबह से बचाव अभियान तेज कर दिया। पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन के कारण सड़क जाम हो रहे हैं। कई गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। 

बचाव व राहत के लिए सेना का हेलीकॉप्टर

महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गो को सेना के हेलीकॉप्टरों से निकाला जा रहा है। अलुवा, कालाडी, पेरुंबवूर, मुवाट्टुपुझा एवं चालाकुडी में फंसे लोगों को निकालने में स्थानीय मछुआरे भी अपनी-अपनी नौकाओं के साथ शामिल हुए।

राज्यों से मिली मदद

बाढ़ प्रभावित केरल के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा घोषित 5 करोड़ रुपये की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से और अन्य 5 करोड़ रुपये भोजन और जरूरी सामानों के रूप में भेजा जाएगा। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से बात कर केरल के हालत की जानकारी ली। केजरीवाल ने केरल को 10 करोड़ देने को कहा है। इसके साथ ही लोगों से अपील की है कि अधिक से अधिक राशि सहयोग करें। वहीं बाढ़ से प्रभावित केरल को सहायता के रूप में तेलंगाना 25 करोड़ रुपए देगा।

Posted By: Arti Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस