बेंगलुरु, रायटर। विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization, WHO) ने भारत बायोटेक (Bharat Biotech) से उसकी कोवैक्सीन (Covaxin) को आपातकालीन उपयोग सूची (EUL) में शामिल करने पर विचार करने के लिए और आंकड़े मांगे हैं। WHO ने कहा है कि वैक्सीन के मामले में वह किसी जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं करेगा। बता दें कि भारत बायोटेक ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के साथ मिलकर कोरोना रोधी टीका कोवैक्सीन को विकसित किया है।

देश में टीकाकरण में इसका उपयोग भी किया जा रहा है। WHO ने ट्वीट कर कहा कि उसे पता है कि लोगों को कोवैक्सीन को ईयूएल में शामिल किए जाने का इंतजार है, लेकिन वह हड़बड़ी में इसे शामिल करने का फैसला नहीं कर सकता। कंपनी की तरफ से अभी इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। भारत बायोटेक ने ईयूएल के लिए जुलाई में WHO को डाटा सौंपना शुरू किया था। उसके बाद से कंपनी ने WHO की तरफ से समय समय पर मांगे गए सभी आंकड़े मुहैया कराए हैं। एक दिन पहले ही WHO की मुख्य विज्ञानी डा. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा था कि कोवैक्सीन को ईयूएल में शामिल करने के मुद्दे पर 26 अक्टूबर को विशेषज्ञ समूह की बैठक होगी।

Edited By: Monika Minal