खैर। यहां के राष्ट्रीय कन्या इंटर कालेज से दसवीं पास करने वाली गांव सभापुर की देवेंद्री पढ़ने में होशियार थी। छह भाई-बहनों में सबसे छोटी देवेंद्री को तीनों भाई भोला, विनोद, भूरा बहुत प्यार करते थे। पड़ोस में ही रहने वाले शिशुपाल के साथ शनिवार को देवेंद्री चली गई तो भाइयों को बहुत दुख हुआ था और उनका खून खौल गया था। बताते हैं कि परिवार के मान-सम्मान के लिए शनिवार को ही उन्होंने देवेंद्री को मारने की योजना बना ली थी।

गांव वालों के अनुसार, सोमवार को देवेंद्री के आने पर छोटा भाई भूरा किसी से 315 बोर का तमंचा मांगकर लाया। फाटक बंद कर घर के अंदर ही उसे गोली मार दी थी। फायर की आवाज सुनकर पड़ोसी भी पहुंचे थे, जिन्हें भूरा ने धमका कर भगा दिया था।

कोतवाली पुलिस के पहुंचने से कुछ समय पहले ही भोला, भूरा व एक अन्य युवक बाइक पर भाग गए थे। एसएसपी मोहित गुप्ता ने भी सभापुर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया तथा घटना में लिप्त आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश इलाका पुलिस को दिए।

तमंचा देख भागे पड़ोसी

कोतवाली के गांव सभापुर में हरपाल सिंह के मकान में एक बजे गोली चलने की आवाज पर पहुंचे लोगों को किशोरी के भाई भूरा ने तमंचा दिखाकर डरा दिया। इसके बाद पड़ोसी चले गए।

नहीं मिले पांच गवाह

किशोरी के शव का पंचनामा भरने के लिए पुलिस ने पांच गवाहों को बुलाया था। डर के कारण एक भी गांव वाला गवाही को सामने नहीं आया। पुलिस की काफी मिन्नतों के बाद बमुश्किल पांच लोग तैयार हुए।

मां-बाप की एक न सुनी

किशोरी की मां गायत्री देवी के अनुसार, उनके दो बेटे बहन की गलती को माफ करने को तैयार थे, किंतु सबसे छोटे धमर्ेंद्र उर्फ भूरा ने मां-बाप व भाइयों की एक न सुनी तमंचे से देवेंद्री को गोली मार दी। उसके बाद उपलों में शव को रखकर केरोसिन डालकर आग लगा दी।

पड़ोसी ने लिखाया मुकदमा

सभापुर के ही बद्री प्रसाद की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। वादी के अनुसार, उसने गोली की आवाज सुनी थी तथा घर से धुआं उठता देखा। घर का लोहे का दरवाजा अंदर से बंद था। हत्या के बाद परिजन दीवार फलांग कर फरार हो गए। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।सभापुर के ही बद्री प्रसाद की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। वादी के अनुसार, उसने गोली की आवाज सुनी थी तथा घर से धुआं उठता देखा। घर का लोहे का दरवाजा अंदर से बंद था। हत्या के बाद परिजन दीवार फलांग कर फरार हो गए। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

पढ़ें: शर्मनाक! फुफेरे भाई ने ही लूट ली अस्मत

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप