नई दिल्ली (प्रेट्र)। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे तीन दिवसीय भारत दौरे पर रविवार देर रात दिल्ली पहुंचीं।ब्रेक्जिट के बाद यूरोप के बाहर पीएम टेरीजा का पहला दौरा है। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और टेरीजा के बीच रक्षा और व्यापार समेत तमाम मुद्दों पर विस्तार से बातचीत हुई।

दोनों नेताओं के बीच सोमवार को नई दिल्ली के हैदराबाद हाउस में भारत-ब्रिटेन के व्यापक संबंधों पर चर्चा हुई। दोनों ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया।

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने भारत में स्वागत करने के लिए पीएम मोदी को शुक्रिया कहा। वहीं भारत का दौरा करने के लिए पीएम ने टेरीजा को धन्यवाद दिया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मैंने और ब्रिटिश पीएम ने विस्तार से बात की। हमने आपसी रिश्तों में नए आयाम को छुआ है।

मोदी ने सुरक्षा परिषद और NSG में भारत की सदस्यता का समर्थन करने के लिए ब्रिटिश पीएम को शुक्रिया कहा। उन्होंने कहा कि मैं और पीएम टेरीजा व्यापार के लिए एक ज्वाइंट वर्किंग ग्रुप बनाने पर सहमत हुए हैं।

'मेक इन इंडिया' का समर्थन

संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस के दौरान टेरीजा मे ने कहा कि भारत और ब्रिटेन दोनों मुक्त व्यापार के समर्थक हैं। प्रधानमंत्री मोदी के 'मेक इंन इंडिया' कार्यक्रम की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि ब्रिटेन 'मेक इन इंडिया' के तहत डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में भारत की मदद के लिए तैयार है।

आतंकवाद से चिंतित ब्रिटेन

वैश्विक आतंकवाद पर चिंता जताते हुए ब्रिटिश पीएम ने कहा कि भारत और ब्रिटेन दोनों समान रूप से आतंकवाद के खतरे को झेल रहे हैं। इसलिए हमें मिलकर इनका मुकाबला करना होगा।

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने दिल्ली स्थित अमर जवान ज्योति पर पहुंच कर जवानों को श्रद्दांजलि दी।

पढ़ेंः द.चीन सागर पर चीन को घेरने की तैयारी में भारत, जापान का मिल सकता है साथ

By Sachin Bajpai